प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर की गई ‘बाथरूम में रेनकोट पहन कर नहाने वाली टिप्पणी पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आलोचना की हैं.

नीतीश ने मोदी का नाम लिए बिना कहा कि लोगों को अपनी भाषा का स्तर बनाए रखना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘अगर आपके पास कोई बड़ा और ऊंचा पद है, तो आपकी भाषा भी उस पद के मुताबिक होनी चाहिए.’ साथ ही उन्होंने बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान मोदी द्वारा की गई ‘DNA’ वाले बयान का भी हवाला दिया और कहा कि  ‘मेरे खिलाफ भी कई अशोभनीय टिप्पणियां की गईं थीं, लेकिन मैंने कभी मर्यादा नहीं छोड़ी. मैंने कभी राजनैतिक बहसों का स्तर नहीं घटाया.’

इसके अलावा नीतीश ने नोटबंदी को लेकर भी अपने रुख से पलटने से इनकार किया हैं. उन्होंने कहा, केंद्र सरकार को नोटबंदी के फायदों की जानकारी जनता को देनी चाहिए.  नीतीश ने कहा, ‘यह मीडिया का कहना है कि मैंने नोटबंदी के मुद्दे पर यू-टर्न लिया है। हाल ही में नई दिल्ली में आयोजित एक विमर्श के दौरान मैंने नोटबंदी से जुड़े अपने विचार स्पष्ट किए थे.

नीतीश ने कहा, ‘बड़ी संख्या में कामकाजी लोग, खासतौर पर असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों पर नोटबंदी का बहुत नकारात्मक असर पड़ा. कई लोगों को नौकरियां छोड़नी पड़ीं। केंद्र सरकार को चाहिए कि वह नोटबंदी के कारण नौकरी से हाथ गंवाने वाले लोगों की आय का कोई वैकल्पिक रास्ते तलाश करे.’


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें