कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर करार वार किया है.

उन्होंने प्रधानमंत्री की भाषणशैली को इस्तेमाल करते हुए कहा कि ‘मित्रों, शाह-जादे के बारे में ना खुद कुछ बोलूंगा, ना किसी को बोलने दूंगा.’ ध्यान रहे प्रधानमंत्री अकसर अपने चुनावी सभाओं में संबोधन की शुरूआत मित्रों से ही कहकर करते है.

उन्होंने ट्वीट किया है कि मित्रों, शाह-जादे के बारे में न बोलूंगा, न बोलने दूंगा. राहुल ने उसके साथ एक खबर भी टैग की जिसमें अदालत की ओर से लगाई गई रोक के बारे में लिखा गया था. इससे पहले बुधवार को उन्होंने लिखा था शाहजादा को सत्ता का कानूनी सहारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा.

दरअसल, जय शाह की याचिका पर गत सोमवार को अहमदाबाद (ग्रामीण) की दीवानी अदालत के अतिरिक्त वरिष्ठ जज ने प्रतिवादियों (द वायर) को निर्देश दिया कि वे खबर के आधार पर आगे और कुछ किसी भी रूप में (प्रिंट, डिज़िटल, इलेक्ट्रोनिक, ब्रॉडकास्ट, टेलिकास्ट या किसी अन्य मीडिया में खबर, साक्षात्कार, बहस, टीवी परिचर्चा की शक्ल में, किसी भी भाषा में, न प्रत्यक्ष न अप्रत्यक्ष) मुकदमे के अंतिम निपटारे तक कुछ भी नहीं लिखेंगे-बताएंगे.

ध्यान रहे न्यूज वेबसाइट ‘द वायर’ ने एक रिपोर्ट में दावा किया है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय अमितभाई शाह की स्वामित्व वाली कंपनी का सालाना टर्नओवर नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री और पिता अमित शाह के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद 16,000 गुना बढ़ गया. यह खुलासा रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (आरओसी) में दाखिल किए गए दस्तावेजों से सामने आया है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?