rahul modi

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उद्योगपति अनिल अंबानी और पीएम मोदी के कथित रिश्तों को लेकर कहा कि  प्रधानमंत्री का ‘सदाबहार दोस्त’ होने पर किसी व्यक्ति को बगैर किसी अनुभव के ना सिर्फ ‘1,30,000 करोड़ रुपये’ का राफेल सौदे का अनुबंध मिल सकता है, बल्कि किसी राज्य के सरकारी कर्मचारियों पर उसकी कंपनी का बीमा खरीदने के लिए दबाव भी डाला जा सकता है।

दरअसल, राहुल ने जम्मू-कश्मीर में रिलायंस इंश्योरेंस के माध्यम से अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाते हुए ट्वीट में कहा कि जब आपका ‘बेस्ट फ्रेंड फॉरएवर’’ (सदाबहार मित्र) प्रधानमंत्री हो, तो आपको 1,30,000 करोड़ रुपये की राफेल डील भी बगैर किसी अनुभव के मिल सकती है। लेकिन और भी चीजें हैं। जाहिर तौर पर, जम्मू-कश्मीर के 4 लाख सरकारी कर्मचारियों पर भी आपकी ही कंपनी से स्वास्थ्य बीमा खरीदने के लिए दबाव डाला जाएगा।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर सरकार ने अपने कर्मचारियों को स्वास्थ्य बीमा मुहैया करने के लिए रिलायंस जनरल इंश्योरेंस को चुना है।  हालांकि राज्य सरकार का कहना है कि यह योजना निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से लागू की जा रही है। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने यहां शनिवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा लाई गई ग्रुप मेडिकल हेल्थ बीमा योजना निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से जरूरी प्रक्रियाओं का पालन करने के बाद लागू की गयी है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इससे पहले मध्य प्रदेश के एक दिवसीय दौरे पर गये मुरैना में राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया था। उन्होने कहा,  इस सरकार ने राफेल पर भी देश के साथ छलावा  किया है।

अम्बेडकर स्टेडियम में आदिवासी एकता परिषद के सम्मेलन को सम्बोधित करते गांधी ने कहा कि मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार आने पर आदिवासी अधिकार विधेयक लागू किया जायेगा। मालूम हो कि इन तीनों राज्यों में नवम्बर और दिसंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं।

Loading...