लखनऊ | उत्तर प्रदेश में पहले चरण के लिए मतदान जारी है. विधानसभा की 73 सीटो के लिए हो रहे मतदान के बीच राहुल गाँधी और अखिलेश यादव ने लखनऊ में एक साझा प्रेस कांफ्रेंस की. इसमें राहुल और अखिलेश ने प्रधानमंत्री मोदी के बिजनौर रैली में दिए गए बयान पर पलटवार किया. इसके अलावा गठबंधन के 10 सुत्रीय एजेंडा को भी पेश किया गया. गठबंधन में 6 सीटो पर चल रही कलह को भी जल्द सुलझाने की बात कही गयी.

लखनऊ में आयोजित प्रेस वार्ता में राहुल गाँधी ने पीएम मोदी के गूगल और रेनकोट वाले बयान पर कहा की उनको दुसरो के बाथरूम में झांकना और गूगल सर्च करना ज्यादा पसंद है. पिछले ढाई सालो में उनकी हर योजना शत प्रतिशत फेल रही है. राहुल ने उन्हें नोट बंदी, कालाधन और 15 लाख के मामले में भी घेरा. उन्होंने कहा की 15 लाख तो छोडिये 15 हजार भी खाते में नही आये.

अखिलेश यादव ने भी मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा की दो युवाओं के साथ आने से वो घबरा गए है इसलिए कुनबे की बात करते है. बहुत गुस्सा होना अच्छी बात नही है. इससे पता चलता है की उनके पैरो से जमीन खिसकती जा रही है. मोदी के कुंडली वाले बयान पर अखिलेश ने कहा की आजकल इन्टनेट पर किसी की भी कुंडली देखी जा सकती है. वह मन की बात करते है, काम की बात नही करते.

मायावती और बीजेपी के चुनाव बाद गठबन्ध पर अखिलेश ने कहा की तस्वीर थोड़ी पुरानी है लेकिन लोगो को पता है की रक्षाबंधन कैसे मना. उनका इशारा बीजेपी नेता लालजी टंडन का मायावती को राखी बाँधने की और था. गठंधन के 10 सूत्रीय एजेंडा में महिला, किसान और युवाओं को साधने की कोशिश की गयी है. इसमें किसानो का कर्ज माफ़ से लेकर महिलाओ को नौकरियों और स्थानीय चुनावो में आरक्षण देने की बात कही गयी है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें