नई दिल्ली | कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने गुरुवार को आये एग्जिट पोल की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए कहा की कल तक का इन्तजार कर लीजिये, इस बार के एग्जिट पोल्स का हश्र बिहार जैसा होगा. मालूम हो की ज्यादातर एग्जिट पोल्स ने उत्तर प्रदेश में बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरने का अनुमान लगाया है. वही कुछ एग्जिट पोल्स में बीजेपी की सरकार बनते दिख रही है.

एग्जिट पोल में समाजवादी-कांग्रेस गठबंधन के पिछड़ने का अनुमान लगाने पर राहुल गाँधी ने शुक्रवार को मीडिया से बात की. उन्होंने प्रदेश में जीत का भरोसा जताते हुए कहा की हमारा गठबंधन प्रदेश में सरकार बनाएगा. उत्तर प्रदेश की जनता हमारे गठबंधन को पूर्ण बहुमत के साथ जीताने जा रही है. एग्जिट पोल में बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर दिखाने पर भी राहुल ने प्रतिक्रिया दी.

उन्होंने कहा की हमारा गठबंधन जीत रहा है. हम एग्जिट पोल को बिहार में देख चुके है. इस बार भी उनका हश्र बिहार जैसा ही होगा. इस पर हम कल बात करेंगे. मालूम हो की राहुल गाँधी से पहले समाजवादी पार्टी के महासचिव रामगोपाल यादव ने भी एग्जिट पोल को फर्जी बताते हुए कहा था की मुझे खबर है की बीजेपी के दबाव में असली एग्जिट पोल को बदल दिया गया.

उधर एग्जिट पोल के नतीजो से उत्साहित बीजेपी नेता उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनना तय मान रहे है. अखिलेश यादव के मायावती के साथ हाथ मिलाने की अटकलों के बीच केन्द्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने कहा की जो लोग जुगाड़ की सरकार के सपने देख रहे है उनके सपने , सपने ही रह जायेंगे. वही अखिलेश ने शुक्रवार को एक बार फिर मायावती के साथ गठबंधन करने की अटकलों को हवा दी.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए अखिलेश ने कहा की संप्रदायिक ताकतों को रोकने के लिए धर्मनिरपेक्ष ताकतों को साथ आना ही होगा, यह धर्मनिरपेक्ष ताकतों की नैतिक जिम्मेदारी है. अखिलेश के ऑफ़र पर मायावती ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा की चुनाव परिणाम आने के बाद अखिलेश के ऑफर पर विचार करेंगे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?