rahu

गुजरात दौरे के पहले दिन पोरबंदर में एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा.

उन्होंने कहा, “नोटबंदी के दौरान जब आप सब लाइन में लगते थे, तब क्या किसी सूट-बूट वाले को लाइन में देखा था? मैं बताता हूं कि क्यों नहीं देखा, क्योंकि वो पहले से ही बैंक में पीछे से घुसकर एसी में बैठे थे.” उन्‍होंने आगे कहा कि गुजरात सिर्फ 5-10 कारोबारियों का नहीं है. यह किसानों, मजदूरों और छोटे कारोबारियों का है.

इस दौरान उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को भी निशाने पर लिया और कहा, “अमित शाह के बेटे ने काफी पैसा बनाया. कंपनी को 50 हजार से 80 हजार करोड़ तक पहुंचा दिया. हम गुजरात में जीएसटी, नोटबंदी, भ्रष्टाचार, महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों को उठाएंगे.”

पोरबंदर में ‘नवसर्जन मच्छीमार अधिकार सभा’ में मछुआरों को संबोधित करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, “मछुआरों ने कहा था कि जो काम किसान करता है वही काम मछुआरा करता है, मछुआरों के लिये अलग मंत्रालय होना चाहिए और हमारी सरकार बनेगी तो हम ये काम करके दिखायेंगे.

किसानों के कर्ज माफी पर बोलते हुए गांधी ने कहा कि “आपको 300 करोड़ की सब्सिडी नहीं देते लेकिन टाटा नैनो बनाने के लिये 33000 करोड़ रुपये दे देते हैं, अगर बड़ा उद्योगपति मोदी जी से पैसा मांगे तो 33000 करोड़ रुपये दे देते हैं.”

उन्होंने यह भी कहा कि 22 साल से गुजरात के सबसे अमीर लोगों की आवाज विधानसभा और मुख्यमंत्री कार्यालय में सुनी गयी, जनता की आवाज सरकार तक नहीं पहुंचती इसे वे बदल कर दिखायेंगे.




कोहराम न्यूज़ को लगातार चलाने में सहयोगी बनें, डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें