विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत तमिलनाडु पहुंचे कांग्रेस सांसद और पूर्व पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने शनिवार को राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) पर हमला बोला। तिरुप्पुर में राहुल ने कहा कि संघ महिलाओं का सम्मान नहीं करता। इसलिए उसने अपने संगठन में भी महिलाओं को जगह नहीं दी है।

राहुल ने कहा, ‘RSS में शुरुआत से ही महिलाओं से भेदभाव होता रहा है। वे महिलाओं का सम्मान नहीं करते। अगर करते तो संगठन में महिलाओं को भी शामिल करते। दुर्भाग्य से देश को कंट्रोल करने वाला यह संगठन फासिस्ट है, पुरुषवादी है।’

किसान आंदोलन पर केंद्र सरकार को आड़े हाथ लेते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘कृषि कानून किसानों के लिए विमुद्रीकरण की तरह हैं। मुझे यह देखकर बहुत गर्व है कि वे दिल्ली से बाहर बैठे हैं और नरेंद्र मोदी को उन्हें लागू करने की अनुमति नहीं दे रहे हैं। वह गरीबों की शक्ति को नहीं समझते हैं और हमारा काम उन्हें गरीबों, श्रमिकों और किसानों की शक्ति को समझना है।’

इस दौरान राहुल ने कारोबारियों से बातचीत में GST का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि यह जब हम सत्ता में आएंगे, तो GST को रीस्ट्रक्चर करेंगे। उन्होने ट्वीट भी किया, “मोदी जी ने ‘GDP’ यानी गैस-डीज़ल-पेट्रोल के दामों में ज़बरदस्त विकास कर दिखाया है! जनता महंगाई से त्रस्त, मोदी सरकार टैक्स वसूली में मस्त।

उन्होंने कहा, ‘इस देश के श्रमिकों और गरीब लोगों पर एक व्यवस्थित और संगठित हमला हो रहा है। ऐसा मत सोचो कि ये नीतिगत गलतियां हैं। ये ऐसी चीजें हैं जो भारतीय श्रमिकों और भारतीय लघु और मध्यम व्यवसायों की रीढ़ तोड़ने के उद्देश्य से की जाती हैं।’