कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तीन तलाक के मुद्दे पर पहली बार प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बीजेपी इस मुद्दे को राजनीतिक तूल दे रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने तीन तलाक बिल पास होने में कोई बाधा नहीं पहुंचायी।

एएनआई के मुताबिक राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी तीन तलाक बिल को बाधित नहीं कर रही है बल्कि उनकी पार्टी के जहन में इस बिल में ‘अपराधीकरण’ के मसले को लेकर सवाल है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘हमारा मसला विधेयक में अपराधीकरण वाले पहलू के साथ जुड़ा हुआ है।’

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को कहा था कि तीन तलाक ने हमारी मुस्लिम बहन-बेटियों की जिंदगी को बर्बाद किया है। कांग्रेस का नाम लिए बिना पीएम ने कहा कि हमने मुस्लिम बहनों को इससे निजात दिलाने के लिए संसद में इसी सत्र में बिल लाने का काम किया लेकिन कुछ लोग अभी इसे पास नहीं होने दे रहे हैं। वे इस बिल के विरोध कर रहे हैं, लेकिन भरोसा रहे मैं उनकी मांग को पूरा करुंगा।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान राहुल ने आरएसएस पर भी हमला बोला। राहुल ने कहा, ‘पिछले चार सालों में मेरी राजनीतिक विचारधारा का सही से विकास हुआ है। मेरे लिए बीजेपी और आरएसएस ने एक शानदार तोहफा दिया है और मैं यह कहता भी हूं। उन्होंने मुझ पर बार-बार अटैक कर बनायी (राजनीतिक विचारधारा) है। मेरी राजनीतिक विचारधारा, भारत का बहुत पुराना विचार है और आरएसएस की विचारधारा से हजारों सालों से लड़ते हुए आ रहे हैं और यह नया नहीं है।’ राहुल गांधी ने आगे कहा कि मैं भले ही आपसे सहमत नहीं हूं, लेकिन आपका सम्मान करता रहूंगा, यही कांग्रेस है।

इससे पहले राहुल आरएसएस की तुलना मुस्लिम ब्रदरहूड से कर चुके है। राहुल गांधी ने कहा कि, आरएसएस भारत की प्रकृति को बदलने की कोशिश कर रहा है। अन्य पार्टियों ने भारत की संस्थाओं पर कब्जा करने के लिए कभी हमला नहीं किया। आरएसएस की सोच अरब देशों की मुस्लिम ब्रदरहुड जैसी है।

Loading...