नई दिल्ली | गुरुवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा था की जब तक सत्ता में नही आये, इन्होने तिरंगे को भी सलामी नही दी. इसके अलावा राहुल ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया की उन्होंने सभी संस्थाओं में संघ के लोगो को डालना शुरू कर दिया है. संघ पर राहुल के वार के बाद बीजेपी और आरएसएस ने पलटवार करने की कोशिश की.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा की हमारी इस देश के कई राज्यों में तब से सरकार है जब राहुल गाँधी पैदा भी नही हुए थे. संस्थाओ में आरएसएस के लोगो को डालने के सवाल पर उन्होंने कोई भी प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया. उधर आरएसएस नेता मनमोहन वैद्य ने भी राहुल गाँधी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा की वो संघ के बारे में कुछ नही जानते.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मनमोहन वैद्य ने आगे कहा की आरएसएस के सदस्यों ने स्वतंत्रता संग्राम में हिस्सा लिया था. राहुल गाँधी न ही संघ के बारे में कुछ जानते है और न ही उन्होंने कभी संघ को समझने की कोशिश की है. यहाँ तक की वो भारत के इतिहास के बारे में भी कुछ नही जानते. मनमोहन वैद्य ने कहा की संघ का जनाधार लगातार बढ़ रहा है, समाज आरएसएस के साथ आ रहा है , जबकि कांग्रेस का जनाधार छोटा होता जा रहा है.

बताते चले की गुरुवार को राहुल गाँधी , जेडीयु के बागी नेता शरद यादव द्वारा आहूत किये गए ‘साझा विरासत बचाओ सम्मलेन’ में भाग लेने पहुंचे थे. यहाँ उन्होंने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा की सरकार सभी संस्थाओ में आरएसएस के लोगो को डाल रही है. जब सब संस्थाओ में इनके लोग हो जायेंगे तो ये कहेंगे की अब यह देश हमारा है. आरएसएस देश के संविधान को नष्ट करने का प्रयास कर रही है.

Loading...