उत्तर-प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बसपा के बीच हुए गठबंधन को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा को गठबंधन का हक है, लेकिन वहां पर कांग्रेस अपनी विचारधारा की लड़ाई पूरे दम से लड़ेगी।

Loading...

यूएई दौरे के आखिरी दिन शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होने कहा, उनकी पार्टी पूरी ताकत से लोकसभा चुनाव में उतरेगी। यूपी में अकेले दम पर कांग्रेस लड़ाई लड़ेगी। इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि आरएसएस सोचता है कि लोगों की आवाज उठाने का कोई मतलब ही नहीं है। 2019 का लोकसभा चुनाव हम जीतेंगे। उन्होने कहा, इसके प्रमुख कारणों में से यह भी एक कारण है कि नौकरशाहों और संस्थानों की ओर से सरकार के खिलाफ प्रतिक्रियाएं आ रही हैं कि हम आवाज दबाने को कतई स्वीकार नहीं करेंगे।

उन्होने कहा, इसके प्रमुख कारणों में से यह भी एक कारण है कि नौकरशाहों और संस्थानों की ओर से सरकार के खिलाफ प्रतिक्रियाएं आ रही हैं कि हम आवाज दबाने को कतई स्वीकार नहीं करेंगे।

राहुल गांधी ने कहा कि बसपा और सपा के गठबंधन के बाद अब कांग्रेस खुद को मजबूत करेगी। यह अब हमारे ऊपर है कि कैसे यूपी में कांग्रेस को हम मजबूत बनाएं। हम अपनी पूरी क्षमता से लड़ेंगे। कांग्रेस पार्टी के पास उत्तर-प्रदेश की जनता को देने के लिए बहुत कुछ है।

उन्होंने कहा कि बसपा और सपा के नेताओं के प्रति मेरे मन में लगाव  है। वे जो करना चाहते हैं, उसे करने का पूरा अधिकार है। राहुल गांधी ने इस दौरान पाकिस्तान से भारत के संबंधों को लेकर भी बातचीत की। उन्होंने कहा कि मैं पाकिस्तान के साथ शांतिपूर्ण संबंध चाहता हूं, लेकिन मैं उसकी ओर से निर्दोष भारतीयों पर की जा रही हिंसा को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करूंगा।

इसके साथ ही उन्होंने एक बार फिर दुबई में बयान देते हुए मोदी सरकार को निशाने पर लिया। राहुल ने कहा कि राफेल पर अब तक मुझे सवालों के जवाब नहीं मिले हैं। पीएम मोदी ने छोटे अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपये का फायदा पहुंचाया है। राफेल पर पीएम बंधक बन गए हैं।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें