नई दिल्ली | कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी आजकल एक अन्य ही अवतार में नजर आ रहे है. अमेरिका दौरे के बाद से ही राहुल बेहद आक्रमक तरीके से बीजेपी और मोदी सरकार पर बरस रहे है. लेकिन इस बार उनके बरसने का तरीका बदला हुआ है. राहुल तंज भरे लहजे में मोदी सरकार की आलोचना कर रहे है जो लोगो को काफी पसंद भी आ रही है. इसके अलावा उन्होंने हिंदी में भी ट्वीट करना शुरू कर दिया है.

राहुल का यह अवतार गुजरात विधानसभा चुनावो में कांग्रेस को कितना फायदा पहुंचाएगा यह तो समय ही बतायेगा लेकिन उनके वार से बीजेपी में खलबली जरुर मची हुई है. जीएसटी और नोट बंदी को लेकर उनके आक्रमक तेवरों से मोदी सरकार भी निरुत्तर दिख रही है. गुजरात की एक जनसभा को संबोधित करते हुए जब राहुल गाँधी ने जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स बता दिया तो सरकार को यह समझ नही आया की इस पर पलटवार कैसे करे?

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

यही वजह है की मोदी सरकार ने वित्त मंत्री जेटली को राहुल की बातो का जवाब देने के लिए आगे किया. लेकिन वो भी आरोप प्रत्यारोप करके चले गए. जेटली ने जवाब देते हुए कहा की जिन लोगों को टूजी स्पेक्ट्रम और कोयला आवंटन घोटालों की आदत पड़ चुकी थी उन्हें वैध टैक्स देने में आपत्ति हो रही है. अब जेटली के आरोपों पर राहुल गाँधी ने भी पलटवार किया है. राहुल ने ट्वीट कर मोदी सरकार की आर्थिक एजेंडा पर निशाना साधा.

राहुल ने ट्वीट किया,’ डॉ. जेटली, नोटबंदी और जीएसटी से अर्थव्यवस्था अाईसीयू में है। आप कहते हैं आप किसी से कम नहीं,मगर आपकी दवा में दम नहीं.’ माना जा रहा है की राहुल ने यह ट्वीट , अरुण जेटली के उस आर्थिक पैकेज की घोषणा पर तंज कसते हुए किया है जिसमे उन्होंने बैंकों की माली हालत को सुधारने के लिए 2.10 लाख करोड़ रूपए देने का एलान किया था. इससे पहले राहुल गाँधी ने मोदी सरकार के विकास के दावों की हवा निकालने के लिए कहा था की ‘विकास पागल हो गया है’.

 डॉ जेटली, नोटबंदी और GST से अर्थव्यवस्था ICU में है।