बुधवार को लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के बाहर शराब कारोबारी विजय माल्या द्वारा वित्त मंत्री अरुण जेटली से देश छोडने से पहले मुलाक़ात के बयान ने देश की राजनीति को हिला के रख दिया है। ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूरे मामले की स्वतंत्र जांच की मांग करते हुए अरुण जेटली के इस्तीफे की मांग की है।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘विजय माल्या द्वारा लगाए गए आरोप बेहद गंभीर हैं। प्रधानमंत्री को इस मामले में तुरंत एक स्वतंत्र जांच करानी चाहिए। जब तक जांच पूरी हो, तब तक अरुण जेटली को वित्त मंत्री के पद पर नहीं रहना चाहिए।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीं पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि माल्या के बारे में मोदी सरकार को सब कुछ पता था, बावजूद इसके उसे देश से फरार होने क्यों दिया गया? सिंघवी ने कहा, ‘कांग्रेस लगातार कहती आ रही है विजय माल्या, नीरव मोदी और कई अन्य लोगों को जानबूझकर बाहर जाने दिया गया है। माल्या ने जो कहा है उस पर वित्त मंत्री की ओर से और स्पष्ट और व्यापक जवाब आना चाहिए।’

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘विजय माल्या, तो श्री अरुण जेटली से मिल, विदाई लेकर, देश का पैसा लेकर भाग गया है? चौकीदार नहीं, भागीदार है!’ इसके अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘सिर्फ वित्त मंत्री ही नहीं, बल्कि पूरी बीजेपी को विजय माल्या के साथ अपने संबंधों की बात को स्वीकार कर लेना चाहिए’

उधर, सीपीआईएम के वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि यह सच्चाई है, जिससे हम पहले से ही वाकिफ हैं। सरकार कितना ही खंडन करे, लेकिन यह पुष्ट है कि जितनों ने भी जनता का पैसा लोन के जरिए लूटा और फरार हो गए, ऐसा सरकार की जानकारी के बिना संभव ही नहीं है।

Loading...