rahul gandhi row 620x400

rahul gandhi row 620x400

नई दिल्ली । देश के 69वे गणतंत्र दिवस के मौक़े पर दिल्ली के राजपथ पर परेड का आयोजन हुआ। इस दौरान दुनिया को हिंदुस्तान की ताक़त का भी अहसास कराया गया। हालाँकि हर साल इस तरह का आयोजन होता है लेकिन इस बार इसके साथ एक विवाद भी जुड़ गया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को वीआइपी की छठी पंक्ति में बैठाए जाने पर कांग्रेस भड़क गयी और उन्होंने मोदी सरकार पर औछी राजनीति करने का आरोप लगा दिया।

चूँकि परम्परा के अनुसार विपक्षी दल के अध्यक्ष को पहली पंक्ति में जगह मिलती है तो इस पर विवाद तो होना ही था। लेकिन यह विवाद तब और बढ़ गया जब पहले राहुल को चौथी पंक्ति में बैठने का फ़ैसला किया गया और बाद में इसे बदलकर छठी पंक्ति कर दिया। जबकि कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को हमेशा पहली पंक्ति में जगह दी गयी। वही इस बार भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह को भी पहली पंक्ति में बैठाया गया।

इस पर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा,’ अंहकारी शासकों ने सारी परंपराओं को दरकिनार करके पहले चौथी पंक्ति और फिर छठी पंक्ति में जानबूझकर राहुल गांधी को बिठाया।’ उन्होंने इसे भाजपा की औछी राजनीति भी क़रार दिया। अब इस मामले में भाजपा की और से भी कड़ी प्रतिक्रिया सामने आयी है। उन्होंने राहुल को वीआइपी एरिया में बैठने योग्य ही नही माना।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा,’राहुल गांधी वीआईपी एरिया में बैठने योग्य नहीं है और हमने उन्हें सम्मान दिया है। कांग्रेस के विचार में लोकतंत्र आज भी गायब दिखता है। उन्हें लगता है कि देश उनके परिवार और वंश के नाम पर चलेगा, जो कि लोकतंत्र के विपरीत मानसिकता है। ओछी राजनीति आप करते हैं, बीजेपी नहीं। विरोधी दलों को सम्मान देना हमारी संस्कृति में है। जबकि कांग्रेस ने अपनी सरकार में हमारे राष्ट्रीय अध्यक्षों को ये इज्जत नहीं दी।’

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?