नई दिल्ली | अगर फ़िलहाल देश के तीन बड़े पदों को देखा जाए तो उन सभी पर आरएसएस के लोग काबिज है. राष्ट्रपति से लेकर प्रधानमंत्री तक, हर जगह संघ प्रचारक गद्दी पर बैठा हुआ है. इस तरह देश के सर्वोच्च पद पर संघ प्रचारको का आसीन होना कांग्रेस को रास नही आ रहा. इसलिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने आरएसएस पर हर संस्थान में अपने लोग डालने का आरोप लगाया. उन्होंने मोदी पर निशाना साधते हुए उन पर झूठ बोलने का आरोप लगाया.

गुरुवार को जेडीयू नेता शरद यादव द्वारा सभी गैर बीजेपी दलों की एक बैठक आहूत की गयी. इस कार्यक्रम को ‘साझी विरासत बचाओ’ सम्मलेन नाम दिया गया. इसमें कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने भी शिरकत की. बैठक खत्म होने के बाद राहुल गाँधी बेहद आक्रमक अंदाज में बाहर आये और बीजेपी, आरएसएस पर ताबड़तोड़ हमले किये. उन्होंने आरएसएस पर देश के संविधान को नष्ट करने का आरोप लगाते हुए कहा की वो संविधान को बदलना चाहते है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राहुल ने केंद्र सरकार पर आरएसएस को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए कहा ‘ देश को देखने के दो तरीके होते है , एक कहता है की ये देश मेरा है. जबकि दूसरा कहता है की मैं इस देश का हूँ. यही फर्क है हम में और आरएसएस में . वो कहते है की ये देश मेरा है और तुम इस देश के नही हो. वो गुजरात में दलितों की पिटाई करते है और कहते है की तुम इस देश के नही हो.

आरएसएस विचारधारा पर निशाना साधते हुए कहा की आरएसएस जानती है की वो अपनी विचारधारा के साथ कोई भी चुनाव नही जीत सकती इसलिए वह हर संस्थान में आरएसएस के लोग डाल रहे है. आरएसएस देश के संविधान को बदलना चाहती है , उसे नष्ट करना चाहती है. मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए राहुल ने कहा की वो जहाँ जाते है वहां झूठ बोलते है. वो मेक इन इंडिया का नारा देते है लेकिन देश में मेक इन चाइना ही चल रहा है. मोदी जी का मेक इन इंडिया फेल हो चूका है.

Loading...