यूपी के रामपुर में 26 जनवरी को दिल्ली में किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान मारे गए किसान नवरीत सिंह की अंतिम अरदास में शामिल हुई कांग्रेस महासचिव एवं पार्टी की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने कहा कि नवरीत की शहादत बेकार नहीं जाएगी।

परिजनों से मुलाक़ात कर प्रियंका गांधी ने कहा कि नवरीत की शहादत बेकार नहीं जाएगी, पूरा देश आपके साथ है। उन्होंने कहा, “एक शहीद का परिवार उसकी शहादत को कभी नहीं भूल सकता। आपका बेटा किसानों का समर्थन करने के लिए दिल्ली गया था, लेकिन उसके साथ ऐसा हादसा हुआ कि वो वापस नहीं आया। कोई राजनीतिक साजिश के लिए वो वहां नहीं गया था। वो इसलिए गया, क्योंकि उसके दिल में किसानों के लिए दुख था।”

प्रियंका गांधी ने आगे कहा, “सब जानते हैं कि किसानों के साथ गलत हुआ है। सरकार कानूनों को आज वापस नहीं ले रही है, जबकि उनको इसे वापस लेना चाहिए। ये किसानों के साथ बहुत बड़ा जुल्म हो रहा है लेकिन इससे बड़ा जुल्म ये है कि जब सरकार शहीदों को आतंकवादी कहती है और किसान के आंदोलन को अपने लिए एक राजनीतिक साजिश की तरह देखती है।” उन्होंने कहा कि किसानों को आतंकवादी कहना स्वीकार नहीं है।

बता दें कि 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली के दौरान नवरीत सिंह की मौत हो गई थी। कांग्रेस का आरोप है कि नवरीत की मौत पुलिस की गोली से हुई थी जबकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि नहीं हुई है। दिल्ली पुलिस ने सीसीटीवी जारी कर बताया था कि ट्रैक्टर पलटने से किसान की मौत हुई थी।

वहीं आज रामपुर पहुंचते वक्त रास्ते में हापुड़ जिले में प्रियंका के काफिले में शामिल तीन वाहन आपस में एक-दूसरे से टकरा गये थे। प्रदेश कांग्रेस मीडिया संयोजक ललन कुमार ने बताया कि गजरौला के पास हुए इस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि घटना में कुछ वाहन क्षतिग्रस्त हुए, मगर थोड़ी ही देर के बाद प्रियंका अपनी मंजिल की तरफ रवाना हो गई।