नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने गुरुवार को दिल्ली के लोधी एस्टेट इलाके में स्थित अपना सरकारी बंगला खाली कर दिया और उसकी चाबियां केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) के अधिकारियों को सौंप दीं। इस दौरान उन्होने अधिकारियों को खुद बंगले में मौजूद एक-एक चीज की जांच करवाई।

उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कि बाद में कोई गड़बड़ ना हो इसलिए देख लीजिए, मैंने जो कुछ लगवाया था सब छोड़कर जा रही हूं। प्रियंका ने अखिलेश यादव के बंगला कांड को ध्यान में रखते हुए यह काम किया है। प्रियंका गांधी का एक वीडियो भी सामने आया है। इस वीडियो में वह कह रही हैं, ‘जो कुछ मैंने लगवाया है, सब यहीं छोड़कर जा रही हूं।

दरअसल, उन्होने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ हुए बंगला कांड के चलते ऐसा कदम उठाया। दरअसल लखनऊ में उन पर आरोप लगे थे कि बंगला खाली करते वक्त उन्होंने तोड़फोड़ की और टोंटी तक उठा ले गए।जिसके बाद उन्हे विपक्षियों ने ‘टोंटीचोर’ तक कहा था।

बता दें कि एसपीजी सुरक्षा वापस होने के बाद प्रियंका गांधी को बंगला खाली करना पड़ा है। आवास और शहरी कार्य मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि एसपीजी सुरक्षा वापस लिए जाने के बाद उन्हें मौजूदा आवास ‘35 लोधी एस्टेट’ खाली करना पड़ेगा क्योंकि जेड प्लस की श्रेणी वाली सुरक्षा में आवास सुविधा नहीं मिलती।

सरकार ने पिछले साल नवंबर में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली थी तथा उन्हें जेड-प्लस श्रेणी सुरक्षा दी थी। प्रियंका से जुड़े सूत्रों ने बताया कि वह अभी कुछ दिन गुरुग्राम में रहेंगी और फिर मध्य दिल्ली इलाके के एक आवास में शिफ्ट हो जाएंगी।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन