असम में विधानसभा चुनावों की तैयारियों में जुटी कांग्रेस की और से बड़ी घोषणा की गई है। मंगलवार को असम के तेजपुर में प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक जनसभा में ऐलान किया कि यदि उनकी पार्टी असम में सत्ता में आती है, तो संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को ‘‘अमान्य करने के लिए” राज्य में एक नया कानून लाया जाएगा।

प्रियंका ने तेजपुर में एक जनसभा के दौरान कहा, ‘‘यदि उनकी पार्टी को (जनता ने) इस पूर्वोत्तर राज्य में सरकार बनाने का मौका दिया, तो पूरे राज्य में ‘गृहिणी सम्मान’ के रूप में गृहिणियों को हर महीने 2,000 रुपये दिए जाएंगे और सभी परिवारों को 200 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाएगी।”

प्रियंका गांधी ने यह वादा भी किया कि उनकी पार्टी के (सत्ता में आने पर) चाय बागान मजदूरों की न्यूनतम दिहाड़ी मौजूदा 167 रुपये से बढ़ा कर 365 रुपये कर दी जाएगी और अगले पांच वर्षों में युवाओं को करीब पांच लाख सरकारी नौकरियां दी जाएंगी।

उन्होंने कहा, ‘‘असम के लोगों को भाजपा ने 25 लाख नौकरियां देने का पांच साल पहले वादा किया था, लेकिन उन्हें धोखा दिया और इसके बजाय यहां के लोगों पर CAA थोप दिया। हमारी पार्टी (कांग्रेस) खोखले वादे नहीं कर रही है, बल्कि पांच गारंटी दे रही है। यह चुनाव विश्वास को लेकर है। यह राज्य की अस्मिता बचाने की लड़ाई है।”

इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने असम का दौरा किया था और एक रैली को संबोधित किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को कांग्रेस पार्टी की तरफ से मुख्य एजेंडा के रूप में रेखांकित किया जाएगा.