Thursday, August 5, 2021

 

 

 

अखिलेश के आजमगढ़ में CAA प्रदर्शनकारियों से मिलीं प्रियंका, बोली – आवाज उठाना कोई जुल्म नहीं

- Advertisement -
- Advertisement -

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का विरोध करने के दौरान खदेड़ी गई महिलाओं से आज कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मुलाकात की। और इस दौरान कहा कि लोकतंत्र में आवाज उठाना कोई जुल्म नहीं है।

प्रियंका गांधी ने कहा, “आप सभी के साथ गलत हुआ है और हमें इस अन्याय के खिलाफ खड़ा होना होगा। यह सरकार पूरी तरह से गरीबों के खिलाफ है।”

कांग्रेस महासचिव ने कहा, “तमाम बच्चों को जेल में डाला गया और भयानक धाराएं लगाई गई हैं। उनको छोड़ा नहीं जा रहा है इनके एक मौलाना साहब है, जिन्हें जेल में डाला गया, जबकि वो हमेशा अहिंसा की बात करते हैं। मुझे तो यह लगता है कि पुलिस ने इनके साथ बहुत नाइंसाफी की है।”

उन्होंने आगे कहा, “मैंने महिलाओं के बारे में सुना। मैं बिजनौर, मुजफ्फरनगर, मेरठ, लखनऊ और वाराणसी गयी और उन जगहों पर गयी, जहां पुलिस और प्रशासन ने अत्याचार किया। मैं आजमगढ़ की रिपोर्ट लूंगी। मैं उन पुलिस वालों के नाम भेजूंगी, जिन्होंने अत्याचार किया है।”

प्रियंका ने कहा, “केन्द्र और यूपी की सरकार जन विरोधी और गरीब विरोधी है और संविधान तोड़ने के लिए काम कर रही है। उन्होंने जनता को आगाह किया कि अगर आप और हमने मिलकर इसे नहीं बचाया तो संविधान टूट जाएगा।”

उन्होंने आगे कहा कि आपने देखा कि उत्तराखंड में भाजपा सरकार ने कहा है कि आरक्षण संवैधानिक अधिकार नहीं है। बीजेपी सरकार ने उच्चतम न्यायालय में संविधान तोड़ने की बात की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों के साथ खड़ी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles