Monday, August 2, 2021

 

 

 

CAA विरोध: सीएम योगी के बयान पर बोली प्रियंका गांधी – देश में बदले की कार्रवाई के लिए कोई जगह नहीं

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर योगी आदित्यनाथ सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि मेरी सुरक्षा मेरे लिए बहुत अहम नहीं है, राज्य के लोगों की सुरक्षा की बात होनी चाहिए।

प्रियंका गांधी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिस और जिला प्रशासन ने जमकर अराजकता फैलाई। गांधी ने कहा कि यह तब हुआ जब मुख्यमंत्री ने ‘बदला’ लेने वाला बयान दिया। पुलिस और जिला प्रशासन इसी बयान पर काम कर रही है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी मुख्यमंत्री ने ऐसा बयान दिया हो। प्रियंका गांधी ने कहा कि कांग्रेस उन सभी लोगों का समर्थन करेगी और विरोध-प्रदर्शन के आरोप में जेल भेजे गए आरोपियों की लड़ाई लड़ेगा।

प्रियंका ने कहा कि यह देश कृष्ण और भगवान राम का है, जो करुणा और त्याग के प्रतीक हैं. लेकिन योगी जी बदले की बात करते हैं। वह भगवा कपड़े पहनते हैं, लेकिन यह भगवा उनका निजी नहीं, बल्कि हिंदू धर्म का प्रतीक है। ऐसे में उन्हें हिंदू धर्म के मायने को समझना चाहिए।

उन्होने बताया, ‘हमारी तरह से राज्यपाल महोदया को एक चिट्ठी भी भेजी गई है। यह एक संपूर्ण दस्तावेज है। जैसा कि आप पुलिस की अराजकता को देख रहे हैं। जनता को न्याय के कानूनी आधार नहीं है। मैंने चिट्ठी में लिखा है कि बिजनौर में दो नौजवानों की जान गई थी। दोनों सामान्य परिवार से थे।’

‘मैंने अनस के परिजन से मुलाकात की थी। हिं’सा में मौ*त के बाद जब पीड़ित परिवार पुलिस के पास गया तो उन्हें धमकाया था कि आप पर ही एफआईआर कर दी जाएगी।अनस के पिता ने कहा था कि मैं अपने बेटी क*ब्र तक को देखने नहीं जा पाऊंगा। 21 साल के साहिद की भी मौ*त हुई थी, वो नोएडा में रहकर ट्यूशन पढ़ाता था।’

‘लखनऊ में मैं दारापुरी से मिलने जा रही थी। 77 साल के हैं वे और उन्हें एक फेसबुक पोस्ट के लिए घर से पुलिस ने उठा लिया। 48 लोगों के साथ उनका नाम एक लिस्ट में रखा गया था। वाराणसी में कई बच्चे बीएचयू के प्रदर्शन कर रहे थे। शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे। उन्हें जेल भेज दिया गया।’

‘24-25 साल के बच्चों को जेल भेज दिया गया। ये वो केस हैं, जिनका रिकॉर्ड है। 5500 लोग गिरफ्तार हुए हैं। अनऑफिशियली यह नंबर ज्यादा है। कई लोग अज्ञात हैं, जिन्हें जेल में पी*टा जा रहा है। पुलिस और प्रशासन गलत काम कर रहे हैं, उनके रिकॉर्ड हैं चिट्ठी में।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles