संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर के पोते और पूर्व लोकसभा सांसद प्रकाश अंबेडकर ने अयोध्या विवाद को लेकर जनमत संग्रह कराने की मांग की है। आंबेडकर ने कहा कि अध्यादेश लाना और मंदिर निर्माण के लिए विवादित भूमि का अधिग्रहण करना व्यावहारिक विकल्प नहीं है।

भारिपा बहुजन महासंघ के प्रमुख ने मुंबई में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मंदिर निर्माण के लिए विवादित भूमि पर अध्यादेश जारी कर के अधिग्रहण का विकल्प संभव नहीं है। उन्होंने कहा, ‘राम मंदिर निर्माण मुद्दे पर जनमत कराया जा सकता है।’

आएएसएस प्रमुख द्वारा एक अध्यादेश लाए जाने की मांग संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा,‘आरएसएस कौन होता है और भागवत कौन होते हैं।’ आंबेडकर ने मंदिर मुद्दे पर बीजेपी के गठबंधन सहयोगी शिवसेना के रुख की आलोचना करते हुए कहा कि वह अपनी वाकपटुता से लोगों को बेवकूफ नहीं बना सकते।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

babri masjid

कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन में शामिल होने की संभावना के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में, अंबेडकर ने कहा, ‘मैं कांग्रेस के नेताओं से एक बार मिला और उन्होंने कहा कि वे अपने केंद्रीय नेतृत्व के साथ मेरे प्रस्ताव पर चर्चा करेंगे। जिसके बाद मेरी उनसे बात नहीं हुई है।’

आंबेडकर पहले ही अगले साल होने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनाव के लिए असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाले अखिल भारतीय मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के साथ गठबंधन की घोषणा कर चुके हैं।

Loading...