अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर शुरू हुआ विवाद तूल पकड़ता जा रहा है. कांग्रेस विधायक करण दलाल के बाद अब यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के मंत्री ने जिन्ना को देशभक्त करार दिया.

योगी कैबिनेट में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने देश के विभाजन से पहले जिन्ना ने भी इस देश के लिए योगदान दिया था. जिसे नकारा नहीं जा सकता है. उन्होंने कहा, ‘जो इस प्रकार से बकवास भरे बयान देता है, चाहे वह हमारे सांसद विधायक दें या किसी अन्य दल के दें, लोकतंत्र में उसकी कोई मान्यता नहीं है.

उन्होंने आगे कहा, जिन भी महापुरुषों का योगदान इस राष्ट्र के निर्माण में रहा है, अगर उन पर कोई अंगुली उठाता है तो हम समझते हैं कि बहुत घटिया सोचता है. देश के विभाजन से पहले जिन्ना का भी योगदान इस देश में रहा है.’

jinnah

बता दें कि अलीगढ से बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के वीसी तारिक मंसूर को खत लिखकर जिन्ना की तस्वीर हटाने की मांग की. जिसका ग्रेस विधायक करण दलाल ने जिन्ना को स्वतंत्रता सेनानी बताकर विरोध किया.

करण दलाल ने यहां तक कहा कि मोहम्मद अली जिन्ना ने संयुक्त हिंदुस्तान (जब पाकिस्तान नहीं बना था) की आजादी को लेकर देश के अन्य स्वतंत्रता सेनानियों के साथ अंग्रेजों से आजादी दिलवाने में काफी अहम रोल निभाया था.

कांग्रेस विधायक ने कहा कि हमें हर किसी की तस्वीर का सम्मान करना चाहिए. हमें उन सभी नेताओं का शुक्रगुजार होना चाहिए, जिन्होंने देश के लिए आजादी की लड़ाई में भूमिका निभाई. भले ही कुछ पाकिस्तान से हो सकते हैं मगर हम सबने एक साथ आजादी की लड़ाई लड़ी. पाकिस्तान खुद शहीद भगत सिंह का सम्मान करता है. आजादी की लड़ाई लड़ने वाले सभी नेता सम्मान के पात्र हैं.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?