Saturday, May 21, 2022

उपचुनाव में हार पर बोले पूर्व बीजेपी सांसद – ‘पूजा-पाठ करने वाले लोग क्या जानें सरकार चलाना’

- Advertisement -

उत्तरप्रदेश की दोनों हाई-प्रोफाइल लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी को मिली करारी हार का ठीकरा पूरी तरह से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर फुटता दिख रहा है.

आजमगढ़ से भाजपा के पूर्व सांसद रमाकांत यादव ने योगी आदित्यनाथ को निशाने पर लेते हुए कहा कि ‘पूजा-पाठ करने वाले लोग क्या जानें सरकार चलाना, कितने दिन सरकार चलाएंगे. योगी जैसे लोग सबको साथ लेकर नहीं चल सकते. जब योगी सीएम बने तो मुझे लगा था कि वो सबको साथ लेकर चलेंगे, लेकिन उन्होंने केवल एक जाति को आगे बढ़ाने का काम किया, इससे दूसरी जातियों और पूरे प्रदेश में गलत संदेश गया.’

पूर्व सांसद रमाकांत ने कहा कि यह प्रदेश का चुनाव है, इसमें हार की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नहीं, बल्कि प्रदेश संगठन और मुख्यमंत्री की है. अगर इसी तरह दलित और पिछड़ों की सरकार में उपेक्षा हुई तो 2019 में भी बीजेपी का यही हाल होगा. समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में रमाकांत यादव ने कहा, ‘पिछड़े और दलितों को जिस तरह से फेंका जा रहा है, उसका परिणाम आज सामने आ गया. मैं आज भी अपने दल को कहना चाहता हूं कि अगर आप दलितों और पिछड़ों को साथ लेकर चलेंगे तो 2019 में संतोषजनक स्थिति बन सकती है.’

वहीँ पार्टी के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा भी इस दौरान खामोश नहीं रहे, उन्होंने ट्विट कर कहा, ‘मैं लगातार कहता रहा हूं कि अहंकार, गुस्सा और अति आत्मविश्वास राजनीति में सबसे बड़े दुश्मन हैं. चाहे यह ट्रंप, मित्रों या विपक्षी नेताओं की ओर से हो. जय हिंद’  दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘आगे कठिन समय है. सर, यूपी-बिहार के उपचुनाव के नतीजों ने आपको और हमारे लोगों को सीटबेल्ट बांधने का संदेश दिया है. उम्मीद है कि भविष्य में हम इस संकट से निपट सकेंगे. ये नतीजे राजनीतिक भविष्य के बारे में भी बताते हैं, इसे हल्के में नहीं हम ले सकते.’

shh

सिन्हा ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘सच कहूं तो मैं युवा और डायनेमिक नेता अखिलेश यादव, मास लीडर मायावती और महान नेता लालू प्रसाद को बधाई देना चाहता हूं. मनमोहक व्यक्तित्व के साथ उभरते राजनीतिक यूथ आइकन तेजस्वी यादव के लिए यश और बधाई.’

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles