rahu1

दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित संविधान बचाओ रैली का आगाज करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित बीजेपी पर ताबड़तोड़ हमले किये.

राहुल ने कहा कि हम बीजेपी और आरएसएस को संविधान के साथ छेड़छाड़ करने, उसे बर्बाद करने की इजाजत नहीं देंगे. हम बीजेपी को संविधान को छूने तक नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि आज देश की हर एक संवैधानिक संस्थाओं में आरएसएस के लोगों को डाला जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच दलित विरोधी है. गरीब, दलित और महिलाओं को सुरक्षित करने वाला संविधान आज खुद खतरे में है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि जो टॉयलेट साफ करता है, जो गंध उठाता है, उसकी क्या आध्यात्मिकता होती है, किसी ने वो आध्यात्मिकता महसूस की है, जो बाल्मीकि समाज का आदमी महसूस करता है?

दलितों के खिलाफ अत्याचारों पर मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए राहुल ने कहा कि दलितों के मुद्दे पर मोदी चुप हैं. हमें 15 मिनट संसद में बोलने का मौका दें, पीएम मोदी कहीं टिक नहीं पाएंगे. उन्होंने कहा कि देश के इतिहास में पहली बार सरकार संसद नहीं चलने दे रही है जबकि अमूमन विपक्ष संसद नहीं चलने देती है.

modi and amit shah

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और अंबेडकर जी ने संविधान को लिखा और देश को दिया है. जो भी संवैधानिक बॉडी हैं, चाहे लोकसभा हो, राज्यसभा और आईआईटी हो, सब हमारे संविधान ने दिया है. संविधान के बिना न लोकसभा, न राज्य सभा बनते और न ही आईआईटी और न ही बेंगलुरु बनता. संविधान है तो देश है.

कांग्रेस नेता ने हमला बोलते हुए कहा कि हमारे सभी संस्थानों में आरएसएस के विचारधारा वाले लोगों को डाला जा रहा है. पहली बार हिंदुस्तान के इतिहास में हुआ है कि चार जज जनता के पास जाकर न्याय मांग रहे हैं. हमेशा जनता जज के पास जाती है, मगर यहां उल्टा हो रहा है. यहां उनलोगों ने ससंद को बंद कर रखा है. पीएम मोदी संसद में खड़े होने से घबराते हैं.
राहुल ने कहा कि मोदी जी ने अपने मंत्रियों से कहा कि तुम मीडिया वाले को मसाला देते हो. चुप हो जाओ, देश सिर्फ मेरी मन की बात सुनेगा. बीजेपी के एमपी नहीं बोलेंगे, जेटली जी नहीं बोलेंगे, कोई भी नहीं बोलेगा, सिर्फ नरेंद्र मोदी बोलेगा. रेप की घटनाओं पर राहुल ने कहा कि महिलाओं से रेप होता है, 8 साल की बच्ची से रेप होता है, उन्नाव में रेप होता है, मगर मोदी जी ने एक बार भी कुछ नहीं बोला. मोदी जी लंदन गये और आईएमएफ के चीफ ने कहा कि मोदी जी आ प देश के महिलाओं का सम्मान नहीं कर रहे हो.
राहुल ने कहा कि पहले बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ नारा था, मगर अब सिर्फ बेटी बचाओ है. अब बेटी बचाओ सिर्फ बीजेपी के नेताओं से बचाओ. बेटी के माता-पिता ही बेटी को बचाएंगे, यह है हिंदुस्तान की सच्चाई.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें