Saturday, November 27, 2021

सावरकर ने दी थी सबसे पहले टू नेशन थ्योरी, आज उनके चेले सत्ता में: मणिशंकर अय्यर

- Advertisement -

पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर ने सोमवार को लाहौर में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना को कायदे आजम कहने को लेकर की जा रही उनकी आलोचना पर सवाल खड़े किये.

उन्होंने कहा कि कुछ भारतीय चैनल उनसे पूछ रहे हैं कि वो पाकिस्तान के संस्थापक को कायदे-आजम कैसे कह सकते हैं, तो मैं उनसे बताना चाहता हूं कि मैं बहुत सारे पाकिस्तानी दोस्तों को जानता हूं जो गांधी जी को महात्मा गांधी कहते हैं, तो क्या वो सब पाकिस्तान के लिए वफादार नहीं हैं.

अय्यर ने कहा कि भारत के हालात आज के वक्त में बहुत अच्छे नहीं कहे जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि सावरकर ने 1923 में हिन्दुत्व नाम का शब्द खोजा और पहली बार टू नेशन थ्योरी को जन्म दिया. अय्यर ने कहा कि टू नेशन की थ्योरी पहली बार देने वाले सावरकर को जो गुरू मानते हैं, वो आज भारत में सत्ता में हैं.

अय्यर ने इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि 70 प्रतिशत लोगों ने पिछले आम चुनावों में मोदी को वोट नहीं दिया था, फिर भी मोदी जीत गए, क्योंकि लोग एकजुट नहीं थे. मैं आशा करता हूं कि इस बार सत्तर प्रतिशत लोग साथ आकर मोदी के खिलाफ इकट्ठे होंगे और देश में बढ़ रहे बिखराव को समाप्त करेंगे.

अय्यर ने कहा कि भारत मौजूदा दौर में भटकाव के रास्ते पर हैं. सन 1923 में एक वीडी सावरकर ने एक ऐसे शब्द हिंदुत्व को खोज निकाला, जिसका उल्लेख किसी भी धार्मिक ग्रंथ में नहीं है. द्विराष्ट्र के सिद्धांत को खोजने वाले सावरकर के समर्थक इन दिनों सरकार में हैं.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles