लखनऊ : कांग्रेस सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में पाकिस्तान के कायदे आजम मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर उठे विवाद पर जिन्ना की तस्वीर एएमयू में 1938 में लगी थी. इसके बाद देश और प्रदेश में कई बार बीजेपी सरकारें आईं. तब बात क्यों नहीं हुई?

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान थरूर ने कहा कि जिन्ना की तस्वीर एक विश्वविद्यालय में है. उसे वहां होना चाहिए या नहीं, इस पर बात करने के लिए विश्वविद्यालय ही सही जगह है. विश्वविद्यालय के भीतर बात हो सकती है. प्रस्ताव आ सकता है. तस्वीर को उतारा जा सकता है. ऐसा नहीं होना चाहिए कि सड़कों पर इसके खिलाफ बहस हो, गुंडई हो और मारपीट हो. जिन्होंने ऐसा किया है, उन्होंने कानून तोड़ा है. उन पर कार्रवाई होनी चाहिए.

थरूर ने कहा कि ऐसा नहीं है कि एएमयू ही केवल एक जगह है, जहां जिन्ना की तस्वीर लगी है. जहां जिन्ना ने काम किया, वहां भी उनकी तस्वीर है. बॉम्बे हाई कोर्ट और बॉम्बे बार असोसिएशन में भी जिन्ना की तस्वीर है. उसके बारे में क्या बोलेंगे? कांग्रेस सांसद ने कहा कि देश बीजेपी के हाथ में सुरक्षित नहीं है. उन्होंने कहा कि अब ऐसा राष्ट्र बनाने का समय आ गया है जो उत्पादक, सुरक्षित और समृद्ध हो. थरूर ने कहा कि हमारा संविधान ‘भारत माता की जय’ न बोलने की छूट देता है. विविधता का सम्मान करना ही भारतीय लोकतंत्र की विशेषता है.

BJP के हाथ में सुरक्षित नहीं है देश, एनडीए शासन देखना हमारा दुर्भाग्य : शशि थरूर

थरूर ने कहा, मैं भारत माता की जय बोलता हूं. लेकिन, कुछ धर्मों में देवी की पूजा का निषेध हो सकता है. वे इसके बजाय जय हिंद या जय भारत बोलते हैं, तो हमारा संविधान उन्हें ऐसा करने का अधिकार देता है. उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी लोगों को बांटने की राजनीति कर रहे हैं. गाय को सुरक्षित रखना जरूरी है, लेकिन लोगों को मारकर गाय को सुरक्षित रखना उचित नहीं है. भाजपा के लोग अपने से असहमति रखने वालों को पाकिस्तान जाने का नारा देते हैं, लेकिन कनाडा जाने के लिए नहीं कहते. अगर दुश्मन हैं तो उन्हें दूर भेजो, पर वे अपनी बांटने वाली राजनीति के चलते ऐसा कहते हैं.

थरूर ने कहा कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होगी. सीएम योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि कर्नाटक के मतदाताओं ने ही सवाल करने खड़े कर दिए कि वे उस वक्त वहां क्या कर रहे हैं, जब यूपी में आंधी-तूफान में लोग मर रहे हैं. वहां बिल्कुल भी योगीगीरी नहीं चली. नतीजे आने के बाद वहां सभी संभावनाओं पर विचार किया जाएगा.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें