kaira

बीजेपी सांसद हुकुम सिंह की मृत्यु के कारण खाली हुई कैराना लोकसभा सीट पर 28 मई को चुनाव होने की घोषणा के साथ ही इस चुनाव को जीतने के लिए बीजेपी ने सांप्रदायिकता का अखाड़ा बनाना शुरू कर दिया है.

गोरखपुर और फूलपुर चुनाव हारने के बाद कैराना को जीतने में जुटी बीजेपी किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार है. इस बात का अंदाजा राज्य के सीएम योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में भाजपा की राज्यसभा सांसद कांता के दिए भाषण से ही लगाया जा सकता है.

कांता कर्दम ने कहा कि भाजपा हारी तो पाकिस्तान में जश्न मनाया जाएगा. उन्होंने कहा कि अगर आप अपना वोट देकर भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह को जीताएंगे तो कैराना में दिवाली मानेगी. वहीं अगर आप गठबंधन की प्रत्याशी को वोट देकर जिताएंगे तो यह दिवाली यहां नहीं बल्कि पाकिस्तान में मनेगी.

मंच पर बोलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

उन्होंने आगे कहा कि मैं दलित की बेटी हूं. भाजपा ने मुझे यहां बैठाया. इस से आप समझ सकते है कि यहां किसका कितना समान है. इतना नहीं इस दौरान उन्होंने भड़काऊ बयान बाजी भी की. उन्होंने कहा कि यह भाजपा की सीट है. इसे दोबारा आप लोगों को अपने लिए जीताना है.

बीजेपी नेता ने कहा कि पूर्व की सरकारों में किसान, नौजवान, गरीब, मजदूर, महिलाएं और हर वर्ग के लोग परेशान थे. प्रदेश में अराजकता का माहौल था. दंगे, बेरोजगारी से हाहाकार मचा था. प्रदेश में भाजपा सरकार आने के बाद परिवर्तन की हवा चली है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें