pjimage 41

कैराना लोकसभा उपचुनाव और नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में जीत से उत्साहित राष्ट्रीय लोक दल (आरएलडी) के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि उनकी पार्टी अब पश्चिमी उत्तर प्रदेश में चुनावों को ‘हिंदू बनाम मुस्लिम’ करने के प्रयास को ‘सामाजिक गठजोड़’ के जरिए विफल करेगी.

चौधरी ने कहा, ‘हालिया उपचुनावों में जनता ने साफ संदेश दिया है कि सभी पार्टियां एकजुट हों. मुझे लगता है कि विपक्ष में अनुभवी लोग हैं और उनको पता चल गया है कि जनता क्या चाहती है. उन्होंने कहा, ‘जिसे अपना राजनीतिक दायरा बनाना है और बरकरार रखना है, उसे इस गठजोड़ में आना होगा. दूसरा कोई रास्ता नहीं है.

अगले लोकसभा चुनाव के संभावित गठबंधन के नेता के बारे में पूछे जाने पर चौधरी ने कहा, ‘‘यह फैसला संख्या के आधार पर होगा, लेकिन विपक्ष के सभी अनुभवी नेता मिलकर इस पर फैसला करेंगे.’’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ele

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व करने की संभावना को लेकर रालोद नेता ने कहा, ‘मैंने उनके साथ काम किया है. उनको राजनीति का लंबा अनुभव हो चुका है। पहले कांग्रेस को तय करना है और फिर विपक्षी दल के नेता मिलकर तय करेंगे।’

गौरतलब है कि कैराना लोकसभा सीट के उपचुनाव में विपक्ष समर्थित आरएलडी उम्मीदवार तबस्सुम हसन और नूरपुर विधानसभा सीट पर सपा के नईमुल हसन ने जीत हासिल की.

Loading...