समाजवादी पार्टी के फायर ब्रांड नेता आज़म खान ने कठुआ रेप केस में अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि देश की आजादी के बाद से ही तमाम कानून बने, लेकिन बहुत कुछ बदला नहीं.

बता दें कि शुक्रवार को नाबालिगों से बलात्कार के मामले में दोषी को फांसी की सजा दिलाने के लिए पॉक्सो ऐक्ट में संशोधन के लिए अध्यादेश को केंद्रीय कैबिनेट द्वारा मंजूर कर लिया गया. जिसको राष्ट्रपति ने भी अपनी मंजूरी दे दी.

इस पर आजम खान ने कहा कि जो भी कानूनी बदलाव हो रहे हैं, ये बहुत देर से हो रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि वैसे भी सिर्फ कानून बनने से कुछ होने वाला नहीं है.

asifaaa

सपा नेता ने कहा, देश के बंटवारे के समय भी ये सब कुछ हुआ था लेकिन जब बाबरी मस्जिद में मूर्तियां रखी गईं, फिर शिलान्‍यास हुआ और 6 दिसंबर को बाबरी मस्जिद गिरा दी गई, तब भी कानून थे और सब ने उसका जनाज़ा निकलते देखा था.

उन्‍होंने गुजरात दंगों की बात करते हुए कहा कि इतनी लोगों की जानें गई, महिलाओं की इज्‍जत लूटी गई, उस समय भी कानून था लेकिन हुआ क्‍या। दिल्‍ली में निर्भया कांड के बाद भी सख्‍त कानून बने थे, तो क्‍या रेप होना बंद हो गये.

आजम खान ने कहा कि ऐसे अपराध सिर्फ कानून बनाने से नहीं रुकते. इसके लिये समाज की सोच में बदलाव की जरुरत है. आजम खान ने कहा कि मुसलमानों के प्रति नफरत ने देश को बर्बाद कर दिया है. सपा नेता ने कहा कि देश में लोकतंत्र खत्‍म हो रहा है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें