मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री रहते हुए कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को दिग्गी राजा के लकब से पुकारा जाता था। चुनावों में प्रचार के लिए दीवारों पर बड़े-बड़े अक्षरों में दिग्गी राजा से जुड़े नारे लिखे होते थे लेकिन आज उसी शब्द से दिग्विजय सिंह को नफरत हो गई है।

दरअसल, शुक्रवार 1 जून को अपनी एकता यात्रा के दौरान एक बुजुर्ग ने दिग्विजय सिंह को देखकर दिग्गी राजा जिंदाबाद का नारा लगा दिया। लेकिन इस नारे की आवाज जैसे ही उनके कानों में पहुंची दिग्विजय सिंह उस बुजुर्ग पर भड़क उठे।

वो लॉन में बुजुर्ग के पास आए. उन्होंने उसे नारे न लगाने की नसीहत दी और कहा कि, ‘यदि तुमने दोबारा नारा लगाया तो मैं तुम्हें यहीं नदी में डुबो दूंगा।’ दिग्विजय सिंह के इस व्यवहार से घबराए बुजुर्ग ने कान पकड़ उनके पैर छूकर माफी मांगी।

इस यात्रा में उनके साथ उनकी पत्नी अमृता और पूर्व सांसद सत्यव्रत चतुर्वेदी भी मौजूद रहे। बता दें कि इस बार दिग्विजय सिंह को कांग्रेस चुनाव समन्वय समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। इसी के चलते वे प्रदेश भर में यात्रा कर रहे हैं

बता दें कि साल 2003 के विधानसभा चुनाव में हार के बाद से ही दिग्विजय ने 10 साल तक राजनीति से संन्यास ले लिया था. जिसके बाद से उन्होंने एक भी चुनाव भी नहीं लड़ा। इसी चुनाव के दौरान इस नारे का बड़ा इस्तेमाल हुआ था।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?