बसपा सुप्रीमो मायावती ने आगामी 2019 के चुनावों को लेकर बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि वह 2019 के लोकसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन करके मैदान में उतरेंगी.

एनडीटीवी को दिए एक विशेष साक्षात्कार में उन्होंने कहा, इस बात की घोषणा जल्द की जाएगी, जब दोनों पार्टियां सीट शेयरिंग के लिए बैठक करेंगी. यह पूछे जाने पर कि अखिलेश यादव के साथ गठबंधन की घोषणा कब की जाएगी, मायावती ने एनडीटीवी के प्रणय रॉय से कहा कि अभी लोकसभा चुनाव में समय है. जब चुनाव निकट आएगा है, तो दोनों पार्टियां सीटों को समायोजित करेंगे और फिर घोषणा करेंगे.

मायावती ने सपा-बसपा गठबंधन पर बोलते हुए कहा कि ‘धर्मनिरपेक्ष ताकतों के गठजोड़ से भाजपा और आरएसएस डर गई हैं. सांप्रदायिक ताकतें नहीं चाहतीं कि धर्मनिरपेक्ष ताकतें इकट्ठा हों और आगे बढ़ें.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

akhi

वहीँ जनता दल (स) के नेता कुंवर दानिश अली ने कहा कि ‘बहनजी’ ही ऐसी नेता हैं जो पूरे देश में स्वीकार्य हैं. मायावती के नेतृत्व में बसपा ही ऐसी पार्टी है, जो आगामी लोकसभा चुनावों में धर्मनिरपेक्ष पार्टियों को एक कर सकती हैं.

इसके अलावा कर्नाटक चुनावों पर बात करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के बेटे और जनता दल (सेक्यूलर) के नेता एच डी कुमारस्वामी ने कहा कि कर्नाटक चुनाव एक अप्रत्याशित टर्न लेने वाले हैं और ये चुनाव आगामी लोकसभा चुनावों के लिए बेहद अहम साबित होंगे.