शामली के कैराना लोकसभा सीट के उपचुनाव में धुर्विकरण के लिए बीजेपी की और से विवादित बयान देना शुरू हो गया है. चुनाव कार्यालय का उद्घाटन के साथ ही बीजेपी नेताओं ने विवादित बयान दिए.

भाजपा नेता मनोज कश्यप ने कहा है कि जनता उप चुनाव में भाजपा उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित करे ताकि पाकिस्तान और जम्मू-कश्मीर के अलावा मोदी विरोधी देश के अन्य हिस्सों में दीवाली जैसा त्योहार ना मने. उन्होंने कहा, कैराना में भाजपा हारी, तो देश कमजोर होगा और पाकिस्तान में दिवाली मनेगी.

मुजफ्फरनगर से भाजपा सांसद डाक्टर संजीव बालियान ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2013 के सांप्रदायिक दंगे के दौरान दर्ज हुए फर्जी मुकदमों को वापस लेने की बात कही, तो कैराना का वह परिवार विरोध में उतर गया. अब उन्हें जनता को जवाब देना होगा कि फर्जी मुकदमे वापस कराने के पक्ष में हैं या विरोध में.

उन्होंने कहा कि पिछले चार दशक में कैराना का क्या हाल रहा, सब जानते हैं। पहले पाकिस्तान से हथियारों की सप्लाई होती थी और उन हथियारों को सांप्रदायिक हिंसा के लिए प्रयोग किया जाता था. उन्होंने कहा कि बदमाशों को संरक्षण देने वाला परिवार कौन है, जनता सब जानती है. लेकिन प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद कैराना में ही प्रदेश का पहला एनकाउंटर हुआ.

शामली से भाजपा विधायक तेजेंद्र निर्वाल ने कुछ कमी नहीं छोड़ी. उन्होंने कहा कि इस चुनाव में दो ही प्रत्याशी हैं, एक प्रत्याशी वह है जो देश के साथ है। अब समय तटस्थ रहने का नहीं है, बल्कि एक पक्ष में खड़े होने का है. जनता को तय करना है कि राष्ट्रवादी सोच के साथ रहना है या फिर देश विरोधी, आतंकी विचारधारा और जिन्ना को पूजने वालों के साथ. उन्होंने कहा कि अपने परिवार और बच्चों के भविष्य की खातिर भाजपा के साथ आना पड़ेगा और दूसरों को बताना पड़ेगा कि यहां की जनता गुंडों और आतंकवादियों का समर्थन करने वालों के साथ नहीं है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें