teja

पटना: भविष्य में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद अध्यक्ष लालू यादव के बीच किसी भी प्रकार के राजनीतिक सबंध को तेजस्वी यादव ने खारिज कर दिया है.

पटना के गांधी मैदान में रविवार को हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा की ओर से आयोजित गरीब महासम्मेलन में शामिल हुए  तेजस्वी ने कहा कि जीतन राम मांझी के आने से महागठबंधन को नई ताकत मिली है. इस दुख की घड़ी में जिस तरह हमारे परिवार और पार्टी का मांझी ने साथ दिया है हम इसके लिए उनके आभारी हैं.

उन्होंने कहा कि बिहार में जदयू और भजपा कुर्सी-कुर्सी खेल रहे हैं. अगर हमें सत्ता से प्यार होता तो हम भी भाजपा से हाथ मिला लेते लेकिन लालू प्रसाद कभी सामंती ताकतों के सामने नहीं झुके. हमारे पिता को जेल में डालकर, हमारे पूरे परिवार पर मुकदमा कर के वे लोग हमें डराना चाहते हैं. मुझ पर भी कई केस किए गए लेकिन मैं डरने वाला नहीं हूं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नीतीश जी ने दो दिन पहले कहा था कि बार-बार ग़लती करते हैं कि नेता बना देते हैं. इस पर तेजस्वी ने कहा कि ये हमलोगों की ग़लती थी कि आपको मुख्यमंत्री बना दिए. भविष्य में नीतीश कुमार लालू यादव के सामने माफ़ी और घुटने टेकने का काम करेंगे तो भी हम लोग माफ नहीं करेंगे.

मांझी के इस सम्मेलन में तेजस्वी यादव, तेज प्रताप समेत राबड़ी देवी और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को भी शामिल होना था, लेकिन राजद की तरफ के केवल तेजस्वी यादव ही शामिल हुए.