2019 लोकसभा चुनावो को लेकर कांग्रेस क्षेत्रीय पार्टियों के साथ गठबंधन कर रही है. लेकिन दिल्ली में कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के साथ किसी भी प्रकार के रिश्तें को नकार दिया है.

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच संभावित गठबंधन की अटकलों को खारिज करते हुए दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि ‘मोदी को खड़ा करने वाले’ केजरीवाल के साथ हाथ मिलाने का सवाल ही नहीं उठता है.

उन्होंने कहा, ‘दिल्ली के कांग्रेस कार्यकर्ता और सभी नेता यह बिल्कुल नहीं चाहते कि केजरीवाल की पार्टी के साथ किसी तरह का गठबंधन हो. इसकी कुछ वजह हैं. पहली वजह है कि यह है केजरीवाल की लोकप्रियता में लगातार गिरावट आ रही है और जनता अब उनको नकार चुकी है.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

‘दूसरी वजह यह है कि 2011 में केजरीवाल ने बाबा रामदेव, किरण बेदी, आरएसएस और भाजपा के साथ मिलकर कांग्रेस को नुकसान पहुंचाया और मोदी को खड़ा किया. ऐसे में केजरीवाल के साथ गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता है.’

माकन ने कहा, ‘विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को 56 फीसदी वोट मिले थे और नगर निगम चुनाव में उसे सिर्फ 26 फीसदी वोट मिले। दूसरी तरफ कांग्रेस का वोट नौ फीसदी से बढ़कर 22 फीसदी पर पहुंच गया है.’   उन्होंने कहा कि कांग्रेस का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है.

Loading...