21cu6t5o rahul gandhi 625x300 24 august 18

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों यूरोप के दौरे पर हैं। शनिवार को लंदन में उन्होंने भाजपा एवं आरएसएस को आढ़े हाथ लेते हुए कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे जनवादी नेताओं का समर्थन इसलिए करते हैं क्योंकि वे नौकरी नहीं होने को लेकर गुस्से में हैं।

लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में एक संवाद कार्यक्रम के दौरान राहुल ने कहा था कि भारत में बेरोजगारी का ‘संकट बड़ा है’ और भारत सरकार इसे स्वीकार नहीं करना चाहती। उन्होंने कहा कि चीन एक दिन में 50,000 नौकरियों का सृजन करता है जबकि भारत में एक दिन में केवल 450 नौकरियां ही पैदा होती हैँ। यह एक आपदा है।

उन्होने शराब कारोबारी विजय माल्या को लेकर बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि ‘माल्या ने भारत छोड़ने से पहले बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की थी, जिसके दस्तावेजी सबूत हैं। पर मैं उनका नाम नहीं लूंगा।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय बैंकों को धोखा देने वाले विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे लोगों के लिए मोदी सरकार उदार है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और प्रधानमंत्री के बीच एक रिश्ता है. उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाती है।’ राहुल ने कहा, ‘जहां तक  माल्या का संबंध है, भारतीय जेलें बहुत अच्छा हैं। सभी भारतीयों के लिए एक समान न्याय होना चाहिए।’

चीन के साथ डोकलाम विवाद को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि जब कोई आता है और तमाचा लगाता है तब आप बिना किसी एजेंडे के बात करते हैं। उन्होने कहा, डोकलाम पर मेरी बात विदेश सचिव और रक्षा सचिव से हुई थी लेकिन समिति के अंदर बात की जानकारी यहां नहीं दी दा सकती। सरकार भले ही कह रही हो कि चीन ने वहां से सैनिक हटा लिए हैं लेकिन हकीकत इससे उलट है।”

2019 में प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि मेरी लड़ाई विचारधारा से है, मैं अभी इस बारे में नहीं सो रहा हूं। उन्होंने कहा कि फिलहाल मैं इस बारे में नहीं सोच रहा, मैं खुद को एक वैचारिक लड़ाई लड़ने वाले के तौर पर देखता हूं। मुझमें यह बदलाव 2014 के बाद आया. मुझे लगा कि भारत में जैसी घटनाएं हो रही हैं, उससे भारत और भारतीयता को खतरा है।

Loading...