modii

modii

गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान से ठीक पहले दंगों को लेकर राजनीति शुरू हो चुकी है. कांग्रेस ने सिख दंगों का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से 1992 के दंगों के लिए माफ़ी की मांग है.

पंजाब से कांग्रेस के नेता चरण सिंह सपरा ने 1984 के सिख दंगों को लेकर सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की माफ़ी का हवाला देते हुए कहा कि क्या प्रधानमंत्री मोदी को जामा मस्जिद से देश  के मुस्लिमों से माफ़ी मांगनी चाहिए.

न्यूज़18 के एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा, ‘ना तो मेरी पार्टी और ना ही मैं 1984 के सिख विरोधी दंगों का समर्थन करते हैं. सोनिया गांधी स्वर्ण मंदिर गईं और वहां उन्होंने मीडिया के सामने माफी मांगी. मनमोहन सिंह ने भी संसद में माफी मांगी थी. लेकिन पिछले 33 सालों से बीजेपी हमारे दर्द को कुरेद रही है. क्या 1992 के दंगों के लिए नरेंद्र मोदी जामा मस्जिद जाकर माफी नहीं मांग सकते?

इस मामले में बीजेपी ने अमित शाह के सौजन्य से ट्वीट किया. जिसमे कहा गया, ‘कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने कहा की पीएम श्री मोदी को 2002 के दंगों के लिए जामा मस्जिद में जाकर माफ़ी मांगनी चाहिए. पूरा देश जनता है कि 2002 के दंगों में कांग्रेस से प्रेरित एनजीओ ने जितने भी फर्जी आरोप लगाये थे, सभी मामलों में मोदी जी पर कोई भी आरोप सिद्ध नहीं हुआ’.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?