असम के बरपेटा से लोकसभा सांसद और आल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) के नेता सिराजुद्दीन अजमल ने आनेवाले विधानसभा चुनावों को देखते हुए अपने पार्टी वर्कर्स को सलाह दी है कि सभी अपना-अपना इन्श्योरेन्स करा लें।

उन्होंने पार्टी वर्करों को यह सलाह देते हुए आशंका जाहिर की कि भारतीय जनता पार्टी के लोग असम चुनाव के दौरान दहशतगर्दी फैला सकते हैं। ऐसी स्थिति के लिए वर्करों को तैयार रहना चाहिए। घायल होने के लिए भी और मरने के लिए भी। सांसद ने नसीहत दी कि चुनाव में पीछे हटने या डरने से बढिया है कि सभी अपना-अपना इन्श्योरेन्स कराकर भविष्य में अपने परिवार के आर्थिक जरूरतों को लेकर आश्वस्त हो जाएं।
खबर है कि पार्टी इसके लिए अपने स्तर से भी वर्करों का इन्श्योरेन्स करा सकती है। बहरहाल, चुनाव आचार संहिता लग जाने की वजह से पार्टी इस खर्च को लेकर चुप्पी साधे हुए है।   इस तरह सांसद अजमल ने असम चुनाव को काम्युनल रंग देने की शुरुआत कर दी है। ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि चुनाव के काम्युनल पोलराइजेशन को ध्यान में रखते हुए इस तरह की भाषणबाजी शुरू की गई है।
असम के नगाउं जिले के होजल में अपने वर्कर्स की मीटिंग करते हुए अजमल ने इन्श्योरेन्स पॉलिसी के खर्च और फायदों की पूरी जानकारी भी सबको दी। वर्कर्स को बताया कि 716 रुपये में सभी अपना इन्श्योरेन्स करा सकते हैं। 716 रुपये के इन्श्योरेन्स में घायलों को अधिकतम 2 लाख रुपये के बीमा की रकम देने का प्रावधान है। बीमा कराने वाली की मौत की स्थिति में परिजनों को 5 लाख की राशि मिलेगी। सांसद एआईयूडीफ के अध्यक्ष बदरुद्दीन अजमल के छोटे भाई हैं। उन्होंने सारे वर्कर्स से 716 रुपये खर्च करके मैदान में उतरने की अपील की है। (liveindiahindi)
Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें