Friday, September 17, 2021

 

 

 

बीजेपी को सहयोगी का एक और झटका, पासवान बोले – राम मंदिर पर अध्यादेश का नहीं करेंगे समर्थन

- Advertisement -
- Advertisement -

भाजपा के सहयोगी और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने बृहस्पतिवार को राम मंदिर मुद्दे पर मोदी सरकार को बड़ा झटका देते हुए अध्यादेश का विरोध किया और कहा कि मामले में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय अंतिम होना चाहिए।

पासवान ने कहा, ‘‘राम मंदिर के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट जो भी निर्णय दे वह सभी को स्वीकार्य होना चाहिए, चाहे वे हिंदू हों, मुस्लिम हों या अन्य समुदाय के लोग हों। हमारा रूख एक समान रहा है।
प्रधानमंत्री ने जब कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का इंतजार करेंगे तो सभी अगर-मगर खत्म हो जाना चाहिए।’’

यह पूछने पर कि इस मुद्दे पर क्या वह अध्यादेश का समर्थन करेंगे तो पासवान ने कहा कि उनका रूख एकसमान रहा है और वह इसका समर्थन नहीं करेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा था कि इस मुद्दे पर सरकार कोई निर्णय नहीं करेगी जब तक कि न्यायिक प्रक्रिया खत्म नहीं हो जाती है। 

बता दें कि इससे पहले ट्रिपल तलाक बिल पर भी मोदी सरकार को सहयोगी पार्टी JDU ने विरोध का सामना करना पड़ा है। पार्टी ने इस मुद्दे पर साथ देने से इंकार कर दिया है। JDU का कहना है कि ट्रिपल तलाक से लाखों महिलाएं प्रभावित होंगी। इस पर उस समुदाय के लोगों से उनकी भावनाओं के साथ बातचीत करके एक समाधान निकालना चाहिए।

पार्टी की बिहार इकाई के अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह ने NDTV से खास बातचीत में कहा कि ट्रिपल तलाक के पक्ष में हम लोग अभी नहीं हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि एक बड़े समुदाय की परम्परा में कुछ तौर तरीक़े बने हुए हैं। इस ट्रिपल तलाक से लाखों महिलाएं प्रभावित होंगी। इस पर उस समुदाय के लोगों से उनकी भावनाओं के साथ बातचीत करके एक समाधान निकालना चाहिए। मैं इसलिए मानता हूं कि वर्तमान स्वरूप में ट्रिपल तलाक के हम लोग पक्षधर नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles