gul

संसद में नोटबंदी को लेकर घमासान जारी हैं. ऐसे में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने सदन में कहा कि संसद में लगे हुए एटीएम खराब पड़े हुए हैं. जिसका सीधा मतलब है कि इनमें कैश नहीं है तो ऐसे में हम कैसे अपेक्षा करें गांव-गांव के लोगों को पैसे मिल रहे हैं. उन्होंने कहा कि लोग परेशान हैं आखिर लोगों को उनका पैसा क्यों नहीं मिल पा रहा है?

उन्होंने आगे कहा कि संसद परिसर में सरकारी कर्मचारी और पेंशनर्स पैसे नहीं ले पा रहे हैं. सरकार को बताना चाहिए कि फाइनेंशियल इमरजेंसी लग गई है क्या? गांवों में कैश कैसे मिलेगा? संसद के अंदर जो एटीएम है, लाइब्रेरी के एटीएम खराब पड़े हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ सीपीएम नेता सीताराम येचुरी का कहना था कि अगर सरकार ने जवाब दिया तो विरोध कर रहे सांसद अपनी-अपनी सीटों पर चल जाएंगे. लेकिन सरकार की तरफ से कहा गया कि शोर मचाना मुद्दे का हल नहीं है. नोटबंदी को लेकर संसद के बाहर भी प्रदर्शन किया गया.

समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमीरों और गरीबों के बीच क्लास वार को उकसा रहे हैं.

Loading...