गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले हार्दिक पटेल और कांग्रेस के बीच हुए पाटीदार आरक्षण के समझौते पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल उठाते हुए मुस्लिमों के लिए भी आरक्षण की मांग की है.

ओवैसी ने ट्विटर पर सवाल उठाते हुए कहा कि कांग्रेस पटेल आरक्षण पर राजी है… जय हो… हार्दिक पटेल ने कहा कि कांग्रेस पाटीदारों को आरक्षण देने के लिए राजी हो गयी है लेकिन मुस्लिमों को नहीं, जो कि सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछडे़ हुए हैं, जबकि इस बात के पर्याप्त सबूत भी हैं लेकिन मुस्लिम राजनैतिक रूप से कमजोर हैं, और कमजोर लोगों को चुप रहने को कहा जाता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान उन्होंने मुस्लिमों के लिए स्टॉकहोम सिंड्रोम शब्द का इस्तेमाल किया. जिसका प्रयोग आमतौर पर अगवा होने वाले व्यक्ति को अपने अपहर्ता के साथ सहानुभूति के तौर पर किया जाता है. हालांकि ओवैसी का स्टॉकहोम सिंड्रोम से पर्याय हमेशा ठगे जाने के बावजूद मुस्लिमों के सेक्युलर दलों को वोट देने से है.

ध्यान रहे आज हार्दिक पटेल ने कांग्रेस को समर्थन देते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी सत्ता में आती है तो पाटीदारों को आरक्षण देने सहित सभी मांगों  को पूरा करेगी.