SP lowered underdog candidate in the heartland Owaisi,

इस्लामिक इतिहास के चलते भगवा संगठनों की विशेषकर बीजेपी आँखों की किरकिरी बना हुए ताजमहल पर अब बीजेपी नेता संगीत सोम ने विवादित बयान दिया है. संगीत सोम ने ताजमहल को “भारतीय संस्कृति पर एक धब्बा” बताया.

सोम के इस बयान पर पलटवार करते हुए आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि लाल किले को भी गद्दार ने ही बनाया है तो क्या पीएम मोदी लाल किला पर तिरंगा नहीं फहराएंगे? ओवैसी यहीं नहीं रूके उन्होंने दिल्ली स्थित हैदराबाद हाउस का भी जिक्र किया और कहा, हैदराबाद हाउस भी गद्दारों ने ही बनाया गया था, क्या पीएम मोदी अब वहां पर विदेशी मेहमानों को रिसीव करना बंद कर देंगे?

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने सोम को चुनौती देते हुए कहा कि संगीत सोम को यूनेस्को जाकर ताजमहल का नाम ऐतिहासिक धरोहरों की लिस्ट से हटवा चाहिए. ओवैसी ने कहा, ताज महल सातंवा अजूबा है. बीजेपी को चाहिए कि अब ताज महल आने वाले पर्यटकों को कह दें कि हम आपको यह नहीं दिखाएंगे, यह गद्दारों की निशानी है. ओवैसी ने कहा कि अगर मुगल गद्दार थे तो हैदराबाद हाउस में पीएम मोदी ने ओबामा को चाय क्यों पिलाई थी?

ओवैसी ने मीडिया के रवैये पर भी ऊँगली उठाई और कहा कि क्या संगीत सोम का बयान बीजेपी की जिम्मेदारी नहीं है? ओवैसी ने कहा कि अगर मैं ऐसा बयान दूं तो आप मुझसे ना जाने क्या-क्या सवाल पूछेंगे. उन्होंने अयोध्या में लग रही राम की मूर्ति पर योगी सरकार को घेरा, और कहा, सरकार जनता के टैक्स के पैसे का उपयोग धार्मिक स्थानों को बनाने या सुधारने में खर्च नहीं कर सकती. कोर्ट के आदेश को न मानते हुए यूपी सरकार कैसे जनता के पैसों से भगवान राम की प्रतिमा बनवा सकती है?

इस के लिए उन्होंने हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश का भी हवाला दिया जिसमे गुजरात दंगों के दौरान नुकसान हुए धार्मिक स्थलों के पुननिर्माण पर कोर्ट ने रोक लगा दी.

Loading...