तेलंगाना विधानसभा चुनाव को लेकर गहमागहमी के बीचऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस-टीडीपी गठबंधन को लेकर दोनों पार्टियों पर जबरदस्त हमला बोला है। ओवैसी ने इस गठबंधन को 2018 की ईस्ट इंडिया कंपनी बताया है।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘मैं बताता हूं कि यह क्यों 2018 की ईस्ट इंडिया कंपनी है। तेलंगाना का गठन हुआ। अब तेलंगाना के निर्णय चंद्रबाबू नायडू लेंगे, जो कि विजयवाड़ा में बैठते हैं? नागपुर की आरएसएस द्वारा फैसले होंगे? या दिल्ली में कांग्रेस अब सारे महत्वपूर्ण फैसले लेगी? बता दें कि इससे पहले भी असदुद्दीन ओवैसी आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू की साख पर सवाल खड़ा कर चुके हैं।

Loading...

एन. चंद्रबाबू नायडू के बारे में असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि 2002 के गुजरात दंगों के दौरान वह बीजेपी समर्थक थे। उन्होंने यह भी कहा था, ‘नायडू की तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) उस समय नरेंद्र मोदी सरकार का हिस्सा थी, जब छात्र रोहित वेमुला, मोहम्मद अखलाक की मौत हुई।’

तेलंगाना में 7 दिसंबर को मतदान होगा। राज्य के गठन के बाद पहली सरकार टीआरएस की बनी और चंद्रशेखर राव ने बतौर सीएण प्रदेश की कमान संभाली। तेलंगाना में टीआरएस और टीडीपी के बीच कड़ा मुकाबला है। भाजपा और कांग्रेस भी मुकाबले में हैं। इसके अलावा कई इलाकों में एमआईएम का भी दबदबा है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें