Friday, August 6, 2021

 

 

 

ओवैसी ने मोदी सरकार से मांगा – श’हीद सैनिकों का बदला, कहा – ब’लिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए

- Advertisement -
- Advertisement -

लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक टकराव में भारतीय सेना (Indian Army) के कर्नल और दो जवानों की शहादत को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा की मोदी सरकार को चीन से शहादत का बदला लेना चाहिए।

ओवैसी ने ट्वीट कर पीएमओ और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से इस मुद्दे पर बयान जारी करने को कहा है। ओवैसी ने लिखा,”भारत उन 3 वीर शहीदों के साथ खड़ा है, जिन्हें चीन ने आज शहीद कर दिया। मेरी संवेदनाएं कर्नल और 2 बहादुर सैनिकों के परिवारों के साथ है। सामने से कमांडिंग ऑफिसर लीड कर रहे थे। सरकार को इन ह’त्याओं का बदला लेना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनका बलिदान व्यर्थ नहीं था।”

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने निशाना साधते हुए ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा, चीन की तरफ़ से ख़तरे और चुनौती को लेकर नेताजी ने समय-समय पर सरकारों को चेताया है लेकिन सरकार चीन की चेतावनी को लेकर उदासीन है… सरकार इसका जवाब कब देगी?

इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ  नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि चीन को हमारे जवान को इस तरह मा’र देना का कोई अधिकार नहीं है। चीन के फौज का इस तरह का व्यवहार हमें बर्दाश्त नहीं होगा। अधीर रंजन ने कहा, ”पीएम मोदी से हमारी गुजारिश है कि भारत चीन से बदला लें, ताकि चीन की दोबारा हम पर ह’मला करने की हिम्मत न हो। हम बदला चाहते हैं। उन्होंने हमारी फौज पर गो’ली चलाई है। इसका बद’ला लेना चाहिए।”

इसके अलावा कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि,, ‘गल्वान घाटी में हुई घटना चीनी सेना की ओर से बार-बार किया जाने वाला उल्लघंन है। अब वक्त आ गया है कि देश उसकी इन घुसपैठों का जवाब देने का वक्त है। हमारे जवान किसी खेल का हिस्सा नहीं हैं कि हर कुछ दिन पर सीमा की रक्षा करने में हमारे कुछ अधिकारियों और जवानों की जान जा रही है।

गौरतलब है कि लद्दाख की गालवान घाटी में चीन के साथ झड़प में एक भारतीय सेना अधिकारी और दो सैनिकों के शहीद हुए हैं।  सेना ने कुछ समय पहले एक बयान में कहा था कि भारतीय सेना के जवान कल रात “दोनों पक्षों के बीच हुए हिंसा आमने-सामने” में शहीद हो गए थे और दोनों देशों के सैन्य प्रतिनिधि तनाव को दूर करने के लिए अब बैठक कर रहे हैं। बयान में दोनों पक्षों की ओर से हताहत होने की बात कही गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles