Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

दिल्ली हिंसा को सांप्रदायिक दंगा कहना मजाक, ये एक नरसंहार था: ओवैसी

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: दिल्ली हिंसा को लेकर एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) लोकसभा में बुधवार को गृहमंत्री अमित शाह के जवाब पर कहा कि दिल्ली हिंसा को एक सांप्रदायिक दंगा कहना सबसे बड़ा मजाक होगा। ओवैसी ने कहा कि जो हुआ है, ये एक नरसंहार था।

उन्होंने कहा कि दिल्ली हिंसा को एक सांप्रदायिक दंगा कहना सबसे बड़ा मजाक होगा। यह एक प्रोग्राम के तहत किया गया दंगा था। यहां सवाल हिन्दू और मुस्लिम का नहीं है, बल्कि यह इस बारे में है कि क्या आप (सरकार) अपने संवैधानिक कर्तव्य को निभाएंगे।

ओवैसी ने कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट के वर्तमान जज की निगरानी में दिल्ली हिंसा की जांच की मांग करता हूं। उन्होंने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम की जांच होनी चाहिए। ओवैसी ने कहा कि हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल भेजा जाना चाहिए।

एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा कि ये सवाल हिन्दू या मुसलमान का नहीं है बल्कि सरकार के जिम्मेदारी निभाने का है। सरकार फेल हुई है। उन्होंने कहा, पुलिस के जो वीडियो आए हैं, उनमें सिपाही पत्थर फेंक रहे हैं पीट-पीटकर वंदेमातरम गाने को कहा जा रहा है। क्या इनकी जांच होगी। अंकित शर्मा की भी मौत हुई है और फैजान की भी। किसी की जान की कीमत किसी से कम नहीं है, सबको इंसाफ मिलना चाहिए ये हमारी मांग है।

बता दें कि दिल्ली हिंसा पर चर्चा का जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस की तारीफ की। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस ने अच्छा काम कियाऔर 36 घंटे में हालात पर काबू पा लिया। शाह ने पुलिस का बचाव किया और सीएए प्रदर्शनों को लेकर विपक्ष को ही कटघरे में खड़ा किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles