आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के कातिल नाथूराम गोडसे को देश का पहला आतंकी बताया है. ओवैसी ने कहा कि ऐसा कहने में उन्हें कोई डर नहीं है. अगर पुलिस उन्हें नोटिस भेजती है तो भेज दे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है.

ओवैसी ने कहा कि “किसने मारा था महात्मा गांधी जी को, इसपर नोटिस देंगे मेरे को आप, मैं पोलिस से पूछना चाह रहा हूं क्या आप मेरे को नोटिस देंगे, मैं गोडसे के खिलाफ बोलूंगा, हिन्दुस्तान का सबसे बड़ा नंबर वन टेरेरिस्ट नाथूराम गोडसे था, तुम नोटिस दोगे मुझे, दो नोटिस मुझे, नाथूराम गोडसे कौन था.

पुणे में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमने कभी मुल्क का सौदा ना किया था और ना ही करेंगे. 70 सालों से हमें डराया जा रहा है लेकिन हम डरने वाले नहीं है. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि हमें जान से मार सकते हैं तो मार दीजिए लेकिन अगर हम जिंदा है तो यहीं जियेंगे.

नाथूराम गोड़से

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तीन तलाक बिल को लेकर उन्होंने कहा मिस्टर मोदी आंखे खोलो और दिमाग से अपने पर्दे हटाओ, आप मुस्लिम खवातीनों के हमदर्द नहीं हैं, आप हमारे दुश्मन हैं और हमारी नाइंसाफी का इंतेजाम कर रहे हैं.

श्री श्री रविशंकर के बयान पर पलटवार करते हुए ओवैसी ने कहा, कुछ लोग कह रहे हैं कि सभी मुस्लिम पाकिस्तान या सिरिया चलो जाओ. उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वज अंग्रेजों के खिलाफ संघर्ष किया था और हिन्दुस्तान जिंदाबाद के नारे भी लगाए थे.