Friday, January 28, 2022

मुसलमानों से बोले ओवैसी – सेकुलरिज्म, अब अस्पताल में, खुदा के लिए भूल जाओ

- Advertisement -

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने नांदेड में मुस्लिम वोटरों से अपील करते हुए कहा कि अब खुदा के लिए सेकुलरिज्म को भूल जाओ और एकजुट होने का काम करो.

असदुद्दीन ओवैसी बोले, ‘..हमको अपने नुमाइंदों की जरूरत है, भूल जाओ खुदा के लिए सेकुलरिज्म, अब अस्पताल में सेकुलरिज्म है हमारी जिम्मेदारी नहीं है अब ये कांग्रेस की जिम्मेदारी है. हमने 70 साल काफी हक अदा किया है.’

ओवैसी ने आगे कहा, ‘..आज हमारे नुमाइंदे नहीं हैं, इसकी मिसाल है याकूब मेनन को फांसी मिली, कौन उसके खिलाफ आवाज़ उठी…याकूब मेनन को तुम बचा सकते थे, क्योंकि भारत सरकार के पास पावर है कि सुप्रीम कोर्ट की फांसी को उम्रकैद में बदल सकते हैं. लेकिन याकूब की बारी में नहीं हो सका लेकिन पंजाब के CM को मारने वाले के लिए ऐसा हो गया.’

बता दें कि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी महाराष्ट्र में अकेले चुनाव लड़ रही है. लोकसभा चुनाव में उन्होंने प्रकाश अंबेडकर के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था, लेकिन विधानसभा चुनाव में ये गठबंधन नहीं हो सका.

ओवैसी ने आगे कहा, ‘…एक रिपोर्ट में कहा कि 2014 में 37 फीसदी हिंदू भाईयों-बहनों ने मोदी को वोट दिया, 2019 में वो 37 से बढ़कर 44 फीसदी हो गया. आप अंदाजा लगाइए, किसके वोट बढ़ रहे हैं. इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया कि 2014-2019 में 6 फीसदी मुसलमानों ने मोदी को वोट दिया.’

AIMIM प्रमुख ने कहा, ‘…देख लो इस रिपोर्ट में तीन चीजें हैं, 37 फीसदी हिंदू भाईयों-बहनों ने मोदी को वोट दिया, 5 साल में वो 44 फीसदी हो गया. मुसलमानों ने 2014-2019 में 6 फीसदी ही वोट दिया…मैंने कहा कि 6 जो नंबर है उसे क्रिकेट मैच में छक्का बोलते हैं, 6 जो होता है वो छक्का होता है, दिए होंगे हमको क्या…’

ओवैसी आगे कहते हैं कि ये भी बताना चाहिए कि 6 का 6 क्यों है, 37 का 44 क्यों हो गया, इसका कोई जवाब कांग्रेसी नहीं देगा. बीजेपी को जो भी वोट मिले है, उसमें कांग्रेस का पूरा वोटबैंक बीजेपी को चला गया.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles