एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने दिल्ली में सोमवार को नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हुई हिंसा को लेकर बीजेपी को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि यह दंगा एक पूर्व विधायक और भाजपा नेता के उकसाने का परिणाम था। जिसमे पुलिस भी शामिल रही।

उन्होने ट्वीट किया, ‘‘यह दंगा एक पूर्व विधायक और भाजपा नेता के उकसाने का परिणाम था। इसमें पुलिस के शामिल होने के भी स्पष्ट सबूत हैं। पूर्व विधायक को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए। हिंसा को नियंत्रित करने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने चाहिए, नहीं तो यह और फैलेगी।’’

उन्होंने कहा कि मैं दिल्ली में हुई हिंसा की निंदा करता हूं, जिसमें एक पुलिस कांस्टेबल और नागरिकों की जान चली गई। यह देश के लिए शर्म की बात है कि जब विदेशी गणमान्य व्यक्ति यहां की यात्रा पर थे तब हिंसा भड़क उठी है। बता दें कि इस हिंसा में एक पुलिसकर्मी समेत पांच लोगों की मौत हो गई। हिंसा में डीसीपी, समेत 60 से ज्यादा घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बता दें कि इस हिंसा से पहले बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने भड़काऊ भाषण दिया था। ये भाषण दिल्ली पुलिस की मौजूदगी में दिया गया था। जिसमे उन्होने कहा था कि तीन दिन में अगर दिल्ली पुलिस रास्ता नहीं खुलवाएगी तो फिर हम किसी की नहीं सुनेंगे। इसके बाद से दिल्ली में जो हिंसा भड़की वो अब तक शांत नहीं हुई है।

कपिल मिश्रा ने कहा था कि रविवार को कहा था कि ‘कल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) दिल्ली आ रहे हैं, इसलिए यह ऐसा कर रहे हैं वह कहते है कि यह लोग यही चाहते है कि दिल्ली में आग लगी रहे, मै आपको कहना चाहता हूं कि ट्रंप के जाने तक आप जाफराबाद और चांदबाग को खाली करा लीजिए नहीं तो उसके बाद हम आपकी भी नहीं सुनेंगे’।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन