देश में गाय के नाम हो रहे अत्याचार को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआइएमआइएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कथित गौररक्षकों के आतंकी कारनामे करार दिया हैं.

सोमवार को ओवैसी ने कहा कि गौरक्षक लोगों के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं. अगर ऐसे हमले जारी रहे, तो देश में अराजकता फैलेगी.  उन्होंने कहा, भाजपा और उसकी सरकार गोरक्षकों पर लगाम नहीं लगाना चाहती क्योंकि उनके प्रति वह नरम रवैया रखती है.

Loading...

ओवैसी ने कहा कि गौरक्षकों द्वारा हमलों की घटनाएं दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं और अब तक वे नौ लोगों की हत्या कर चुके हैं और दो महिलाओँ के साथ बलात्कार भी कर चुके हैं. वे आतंकियों की तरह मनमानी तरीके से लोगों को पीट रहे हैं, जैसे उन्हें सरकार ने लाइसेंस दे दिया हो. वे जिस तरह से कानून की धज्जियां उड़ा रहे हैं, वो देश के लिए चिंता की बात है.

उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि ये देश के लिए यह गंभीर खतरे की स्थिति है. यदि ऐसा लगातार बना रहा तो और अराजकता फैलेगी. ओवैसी ने कहा कि ये भाजपा के लिए उन्हें रोकने के लिए सबसे सही समय है, जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के लोग हैं.

पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गोरक्षकों से की गई अपील को दरकिनार करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री केवल बातें करते हैं, करते कुछ नहीं. उन्होंने अपील तो कर दी ,मगर उसका कोई असर नहीं दिख रहा. सरकार को हमलावरों के साथ कड़े कानून से सख्ती से निपटना चाहिए.

उन्होंने कहा, “देश में मुसलमानों तथा कश्मीरियों के खिलाफ एक माहौल तैयार किया जा रहा है या तो वे गोसंरक्षण के नाम पर मुसलमानों को पीट रहे हैं या कश्मीरी युवकों को प्रताड़ित कर रहे हैं.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें