Tuesday, October 26, 2021

 

 

 

ओवैसी बोले – ‘बाबरी मस्जिद गिराया जाना कानून का मजाक था’

- Advertisement -
- Advertisement -

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले में सुनवाई पूरी हो चुकी हैं। अब फैसले का इंतजार है। माना जा रहा है कि 17 नंवबर से पहले फ़ैसला सुनाया जा सकता है। इसी बीच हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने बाबरी मस्जिद कि शहादत का मुद्दा उठाया है।

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी अब इसको लेकर बयान दिया है, उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद को गिराना कानून का मज़ाक था। एक जनसभा को संबोधित करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘..बाबरी मस्जिद के ताले खोले गए थे, तो कांग्रेसियों की सरकार थी। कौन था होम मिनिस्टर, जब मस्जिद शहीद हुई। मेरे भाई, ये आपको याद रखना है। अल्लाह से दुआ करो इस फैसले से इंसाफ को कायम करे।’

जनसभा के वीडियो को AIMIM पार्टी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया है। इस वीडियो में उन्होंने कहा, ”मुझे नहीं पता क्या फैसला आएगा, लेकिन मैं चाहता हूं फैसला ऐसा आए जिससे कानून के हाथ मजबूत हों। बाबरी मस्जिद को गिराया जाना कानून का मजाक था।”

बता दें कि प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई में 5 जजों की संविधान पीठ इस मामले ने लगातार 40 दिन तक सुनवाई की है। इस बेंच में CJI रंजन गोगाई के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस डीवाय चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस  एसए नज़ीर शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles