नई दिल्ली: ऑल ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी नेता और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बांग्लादेशी और रोहिंग्या को लेकर दिये बयान पर पलटवार किया है। ओवैसी ने कहा, अमित शाह इस देश के पहले ऐसे गृहमंत्री होंगे, जो अवैध रूप से रह रहे लोगों को हटाने के लिए एक सांसद से “अनुमति लेना” चाहते हैं।

दरअसल, सिकंदराबाद में एक रोड शो के बाद अमित शाह ने कहा था कि ओवैसी मुझे लिखकर दे दें कि बांग्लादेशी और रोहिंग्या को बाहर करना है, सिर्फ चुनाव में बात करने से नहीं होता है, जब मैं इनके खिलाफ कार्रवाई करता हूं तो संसद में इतना हाय-तौबा मचाते हैं, लेकिन चुनाव में कुछ और कहते हैं।

उनके इस बयान पर ओवैसी ने अब जवाब दिया है। उन्होंने कहा, ये कब से हो रहा है कि देश का गृहमंत्री एक सांसद से पूछकर एक्शन लेगा।  ये उनका काम है, उनकी ड्यूटी है, उन्हें एक्शन लेना चाहिए। वह पहले गृह मंत्री हैं, जो अवैध पाकिस्तानियों और अफगानिस्तानियों को हटाने की अनुमति एक सांसद से मांग रहे हैं।

उन्होने कहा, उनकी ही पार्टी ने सबसे पहले कहा है कि मतदाता सूची में 30,000 रोहिंग्या हैं। अगर वे अवैध रूप से रह रहे हैं, तो गृह मंत्री अमित शाह को बताना चाहिए कि वे यहां कैसे रह सकते हैं। उन्हें कार्रवाई करनी चाहिए।ओवैसी ने कहा, हैदराबाद में सबसे बड़ा मुद्दा प्रदूषण का है। प्रदूषण की बात करनी चाहिए, प्रदूषण को नियंत्रित करना है, ये बीजेपी वाले हिन्दू-मुस्लिम का प्रदूषण फैलाना चाहते हैं।”

बता दें कि एक दिसंबर को यहां मतदान होना है और चार दिसंबर को वोटों की गिनती होगी। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम देश के बड़े नगर निगमों में से एक है। इस नगर निगम का कार्यक्षेत्र चार जिलों में फैला है। इसमें हैदराबाद, रंगारेड्डी, मेडचल-मलकजगिरी और संगारेड्डी आते हैं।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano