ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (AIMIM) नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड को लेकर मोदी सरकार से सवाल किया है. ओवैसी ने कहा कि क्या वैक्सीन 64 साल से ऊपर की आयु वालों पर प्रभावी है?

उन्होंने कहा, ‘जर्मनी की सरकार के मुताबिक कोविशील्ड टीका 64 या उससे अधिक उम्र के लोगों पर उतना असरदार नहीं है जितना कि 18 से 64 साल के लोगों पर. क्या सरकार इस संशय को दूर कर सकती है. यह एक संयोग है कि पीएम मोदी ने भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोवैक्सीन टीका लिया. हालांकि मैं सभी से वैक्सीन लेने के लिए कहता हूं.’

बता दें कि पीएम मोदी ने आज कोरोना वायरस का टीका लिया. टीका लगवाने के बाद मोदी ने ट्वीट किया, ‘मैंने एम्स में कोविड-19 टीके की पहली खुराक ली. कोविड-19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने बहुत कम समय में असाधारण काम किया है.’

उन्होंने कहा, ‘मैं उन सभी लोगों से कोरोना वायरस का टीका लगवाने की अपील करता हूं, जो इसके पात्र हैं. आइए, हम सब मिलकर भारत को कोविड-19 से मुक्त बनाएं.’ बता दें कि सरकार ने बुधवार को घोषणा की थी कि 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों तथा किसी दूसरी बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को एक मार्च से कोरोना वायरस रोधी टीका सरकारी केंद्रों पर नि:शुल्क लगाया जाएगा.

निजी क्लिनिकों एवं केंद्रों पर उन्हें इसके लिए शुल्क देना पड़ेगा. टीकाकरण के लिए लोग कोविन टू-पाइंट जीरो पोर्टल या आरोग्‍य सेतु जैसे अन्‍य आईटी ऐप्‍लिकेशन पर अपना पंजीकरण करा सकेंगे.